फर्रुखाबाद, जेएनएन। जिले में मंगलवार को ऐसी दर्दनाक खबर सामने आई कि इसके बारे में जिसने भी सुना उसके पैराें तले जमीन खिसक गई। दरअल, चुनाव ड्यूटी से घर लौटे शिक्षक संक्रमण का शिकार हो गए थे। हालत बिगडऩे पर उन्हें एल-2 अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। बेटे की मौत की खबर से उनके पिता इस कदर आहत हुए कि हृदय गति रुकने से उनकी भी सांसें थम गईं। दोनों की चिताएं एक साथ जलते हुए जिसने भी देखा उसकी आंखें नम हो गईं।

ये है पूरा मामला: शहर के सातनपुर निवासी अधेड़ युवक राजेपुर ब्लाक के पिथनापुर प्राइमरी विद्यालय में शिक्षक थे। चुनाव ड्यूटी से लौटने पर उन्हें बुखार आने लगा। जांच कराने पर वह कोरोना संक्रमित निकले। हालत बिगड़ने पर शिक्षक को एल-2 अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। उधर, घर पर जब पिता को बेटे की मौत का शोक संदेश प्राप्त हुआ तो उन्होंने भी दम तोड़ दिया। इसके बाद पिता-पुत्र दोनों की चिताएं मंगलवार को एक साथ जलाई गईं। सबसे छोटे पुत्र ने पिता और बड़े भाई का अंतिम संस्कार किया। स्वजन ने बताया कि दिवंगत शिक्षक का छोटा भाई होम आइसोलेशन में हैं। हालांकि अभी उसकी कोरोना की रिपोर्ट नहीं आई है।

कोरोना पॉजिटिव गर्भवती की मौत: फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला नवदिया निवासी महिला को विगत चार दिनों से सांस लेने में दिक्कत थी। उसे शहर के कादरीगेट स्थित मेदांता हास्पिटल में भर्ती कराया गया था। हालत में सुधार न होने पर स्वजन उसे कानपुर नगर के मेडिकल कालेज ले गए। जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थीं। सोमवार देर रात इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। वह गर्भवती थी। पांचालघाट स्थित श्मशान घाट पर महिला का अंतिम संस्कार किया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप