फर्रुखाबाद, जेएनएन। Malini Awasthi Event In UP लोकगीत गायिका मालिनी अवस्थी ने शनिवार रात पांचाल घाट पर रामनगरिया मेला के सांस्कृतिक पंडाल में लोक गायिकी के ऐसे रंग बिखेरे कि श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए। खुद को फर्रुखाबाद की बेटी बताकर मालिनी ने पहले श्रोताओं से रिश्ता जोड़ा, इसके बाद एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियां दीं। गंगा तट पर होली गीत 'मैं तो सोय रही सपनों में मोहे रंग डाल्यो नंदलाल, मारी पिचकारी अररर मेरी चूनर कर दई लाल' सुनाकर खूब तालियां बटोरीं। 

मालिनी अवस्थी ने 'चलो गुइयां आज खेलें होली कन्हइया संग' एवं 'होली खेले रघुवीरा अवध में होली रघुवीरा' सुनाकर लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। भगवान राम और सीता के विवाह का चित्रण करते हुए गीत गाया 'देखो आज बड़ी भीड़ है जनक अंगना, बागों में रामजी जामा संभालें, सिया चुनरी संभाले जनक अंगनाÓ। लोगों की फरमाइश पर 'निबिया के पेड़ जनि काटियो न बाबुल, निबिया के पेड़ में चिडिय़ा का बसेरा, बलइयां लेऊं वीरन कीÓ सुनाकर सबको भाव-विभोर कर दिया। जिलाधिकारी मानवेंद्र ङ्क्षसह, पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा, निवर्तमान प्रधान इंदू अवस्थी आदि ने स्मृति चिन्ह भेंट किए। मुख्य विकास अधिकारी डॉ. राजेंद्र पेंसिया, विधायक सुशील शाक्य, डॉ. रजनी सरीन आदि मौजूद रहे। संचालन अंजुम दुबे ने किया। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021