जेएनएन, कानपुर : इलाज के अभाव में तीन माह के बच्चे की हुई मौत के मामले में बाल आयोग ने दस दिनों के भीतर उन्नाव सीएमओ से रिपोर्ट मांगी है। सेंट्रल बार एसोसिएशन के महामंत्री अधिवक्ता प्रवीण फाइटर ने इस मामले में बाल आयोग से शिकायत की थी। उन्नाव के सफीपुर डकौली ओसिया गांव की अर्चना तीन महीने के बीमार बच्चे को लेकर उन्नाव जिला अस्पताल गई थीं। जब वह इमरजेंसी पहुंची तो वहां मौजूद डाक्टर ने बच्चे को बिना देखे ओपीडी भेज दिया। अर्चना ओपीडी गई तो वहां मौजूद डॉक्टरों ने दोबारा इमरजेंसी वार्ड जाने को कहा। तीन माह के बच्चे को लेकर वह डेढ़ घंटे तक इमरजेंसी व ओपीडी के बीच दौड़ती रहीं। इमरजेंसी में उन्हें बताया गया कि बच्चे की मौत हो चुकी है। इसके बाद महिला ने सीएमओ से शिकायत की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। अधिवक्ता ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद उन्होंने राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग से शिकायत की थी। आयोग ने उनके पत्र पर संज्ञान लेते हुए सीएमओ को नोटिस जारी कर पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट दस दिनों में देने के निर्देश दिए हैं। सर्राफ को उठाने पहुंची पुलिस विरोध के बाद भागी: कल्याणपुर: रावतपुर में एक सराफा कारोबारी को उठाने पहुंची पुलिस टीम का स्थानीय लोगों ने विरोध कर दिया। पुलिसकर्मियों ने भाजपा बूथ अध्यक्ष को तमाचा जड़ दिया, जिसके बाद क्षेत्रीय लोग आक्रोशित हो गए तो वे मौके से भाग निकले। वही बूथ अध्यक्ष के साथ मारपीट की जानकारी पर थाने पहुंचे भाजपाइयों ने हंगामा किया। सैय्यद नगर में रहने वाले नारायण वर्मा सराफा कारोबारी हैं और घर पर ही दुकान चलाते हैं। बुधवार शाम वह अपनी दुकान पर बैठे थे। तभी दो कारों में सवार खुद को बिहार पुलिस बताने वाले पुलिसकर्मी दुकान के सामने उतरे। एक युवक वर्दी भी पहने था। पुलिसकर्मी सराफा कारोबारी को उठा गाड़ी में डालने लगे, तभी शोर शराबा सुन क्षेत्रीय लोग इकट्ठा हो गए। इसी बीच वहां पहुंचे भाजपा बूथ अध्यक्ष मोहित बाजपेई ने पहले स्थानीय पुलिस को जानकारी देने की बात कही, तो भड़के पुलिसकर्मियों ने मोहित को कई तमाचे जड़ दिए। इसके बाद आक्रोशित लोगों का विरोध देख पुलिसकर्मी मौके से भाग निकले। बूथ अध्यक्ष के साथ मारपीट की जानकारी मिलते ही कल्याणपुर थाने पहुंचे भाजपाइयों ने जमकर हंगामा किया। बूथ अध्यक्ष मोहित बाजपेई व सर्राफ नारायण वर्मा ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट व अपहरण के प्रयास की तहरीर दी है। कल्याणपुर इंस्पेक्टर अजय सेठ ने बताया कि छापेमारी करने पहुंची पुलिस टीम के संबंध में जानकारी जुटाई जा रही। मामले की जांच कर विधिक कार्रवाई की जाएगी। एसपी पश्चिम डॉ. अनिल कुमार ने बताया कि उन्नाव के बिहार थाने की पुलिस चोरी के मामले में छानबीन करने आई थी। स्थानीय लोगों के विरोध के चलते पुलिस को लौटना पड़ा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप