जालौन, जेएनएन। इस बार अंग्रेजी शराब के दामों में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की जाएगी लेकिन आने वाले समय में बीयर की कीमतों में 10 से तीस रुपये तक की कमी होने की बात कही जा रही है। नई आबकारी नीति में कुछ परिवर्तन किए गए हैं। अब ठेकों पर सरकारी ठेका शब्द का प्रयोग नहीं होगा। बोर्ड पर सिर्फ मदिरा की दुकान ही लिखा जाएगा। एक माह में सभी लाइसेंसियों को बोर्ड बदलने होंगे।

अब तक देखने में आता रहा है कि शराब की दुकानों पर सरकारी ठेका देशी शराब, अंग्रेजी शराब, बीयर आदि लिखा रहता है। नई आबकारी नीति में बदलाव किया गया है। अब सरकारी शब्द हटाया जा रहा है। सिर्फ मदिरा की दुकान ही ठेकेदार लिख सकेंगे। आबकारी विभाग ने सभी लाइसेंस धारकों को एक माह का समय दिया है कि वे अपने बोर्ड बदल दें। इस अवधि के बाद अगर किसी दुकान में पुरानी नीति के अनुसार सरकारी ठेका लिखा पाया जाता है तो कड़ी कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।

नहीं बढ़ेंगे शराब के दाम 

नई आबकारी नीति में शराब के दामों में कोई वृद्धि नहीं होगी। जो दाम अभी हैं वही रहेंगे। कोरोना काल में जब ठेके खुले तो उस समय कुछ दाम बढ़ाए गए थे।

नवीनीकरण की प्रक्रिया का पालन होगा

शराब की दुकानों के नवीनीकरण प्रक्रिया का पालन पहले की तरह किया जाएगा। जिले की अधिकांश दुकानें नवीनीकरण की श्रेणी में आ जाएंगी। जो दुकानें बचेंगी उनके लिए 2 फरवरी से आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी। बाद में ई- लाटरी के माध्यम से चयन होगा।

एक माह में बदले जाएंगे बोर्ड

जिला आबकारी अधिकारी केपी यादव ने कहा कि इस संबंध में निर्देश मिल गए हैं। जो आदेश मिले हैं उनका कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जाएगा। सभी ठेकेदारों से कहा गया है कि वे अपनी दुकानों के बोर्ड बदल दें। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप