कानपुर, जेएनएन। कोरोना वायरस को लेकर सरकार की सतर्कता के बाद अब जनता भी बेहद सतर्क हो गई है। आलम यह है कि सावधानी के आगे खून के रिश्ते भी दरकिनार करके जागरूकता की मिसाल पेश कर रही है। ऐसा ही घटना चकेरी के मंगला विहार में सामने आई, जब पुलिस ने बाइक सवार तीन युवकों को रोका और उनकी बात सुनी तो पुलिस कर्मियों का भी उत्साह बढ़ा। युवकों ने बताया कि हरियाणा से लौटें हैं परिवार वाले घर में घुसने नहीं दे रहे हैं।

गुरुवार की दोपहर वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक बाइक पर तीन युवकों निकलने पर रोक लिया। पूछताछ करने पर एक युवक ने अपनी पहचान मंगला विहार-द्वितीय निवासी बताई और उसकी बात सुनकर पुलिस कर्मियों में कोरोना वायरस से जंग में जनता का साथ मिलने से उत्साह बढ़ गया। दरअसल, हरियाणा से लौटे इन युवकों को परिजनों ने घर में घुसने से रोक दिया है।

युवक ने पुलिस को बताया कि वह हरियाणा की फैक्ट्री में महाराजुपर निवासी मौसेरे भाई के साथ काम करते है। कोरोना वायरस के कारण दूरे देश को लॉक डाउन के चलते फैक्ट्री बंद हो गई है। नकदी और राशन खत्म हो जाने के कारण वह अपने घर के लिए निकले थे और किसी तरह ट्रक से आगरा तक पहुंचे। वहां से साधन नहीं मिलने पर फोन से बात होने के बाद छोटा भाई बाइक लेकर आ गया। वह तीनों बाइक से गुरुवार दोपहर कानपुर आ गए। अब परिवार वालों ने उन्हें घर के अंदर आने से मना कर दिया है।

वह कह रहें है कि पहले तीनों अपनी जांच अस्पताल में कराओ फिर घर के अंदर आने देंगे। अगर उन्हें कोई संक्रमण नहीं हुआ तो वह घर आएं वरना इलाज कराने के बाद ठीक होकर लौटें। ताकि यह वायरस किसी दूसरे सदस्य को नुकसान नहीं पहुंच सके। इसके बाद पुलिस ने तीनों युवकों को काशीरामा ट्रामा सेंटर जांच कराने के लिए भेजा।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस