कानपुर, जेएनएन। एनकाउंटर के नाम पर सरकार पुष्पेंद्र यादव जैसे न जाने कितने युवाओं की हत्या कर रही है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। अपराधी बेखौफ घूमकर ताबडतोड़ हत्याएं कर रहे हैं। प्रदेश में जंगलराज के चलते पत्रकार की हत्या हो गई तो आम आदमी का क्या हाल होगा। ये बातें सपा मुखिया और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहीं। वह गुरुवार को केशव पुरम में लोकसेनानी स्व. डा. लक्ष्मी नारायण यादव के परिजनों से मिलने पहुंचे थे।

उन्होंने कहा कि फर्जी एनकाउंटर समेत अन्य मामलों में मानवाधिकार आयोग से नोटिस पाने में उत्तर प्रदेश नंबर एक हो गया है। बोले कि जम्मू कश्मीर के लोगों की सहमति के बिना अनुच्छेद 370 हटाना अलोकतांत्रिक प्रक्रिया है। केंद्र सरकार जहां एक ओर जम्मू कश्मीर में सामान्य हालात होने की बात कह रही है, वहीं दूसरी ओर कश्मीरियों को अपने घरों से भी बाहर निकलने नहीं दिया जा रहा है। सेना के डर से लोग घरों में कैद है। अखिलेश ने कहा कि उपचुनाव के बाद उनकी पार्टी पूरे प्रदेश में सरकार की नीतियों के खिलाफ साइकिल यात्रा निकालेगी। इसकी शुरुआत बुंदेलखंड से की जाएगी।

आत्महत्या करने वाले किसानों, परेशान व्यापारियों समेत शोषित, वंचित लोगों की आवाज को उनकी पार्टी जोर शोर से गांव गांव जाकर उठाएगी। केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी स्वदेशी की बात कर रही है पर इस सरकार में हर चीज बिक रही है। कानपुर में आयुध निर्माणी फैक्ट्रियों का निजीकरण हो रहा है। सरकार सब कुछ बेचने पर तुली है। अभी तो एक ट्रेन का निजीकरण हुआ है। अभी न जाने कितनी और ट्रेनों का निजीकरण होगा। पार्टी में नए संगठन बनाने की बात पर अखिलेश ने कहा कि यह हमारी जिम्मेदारी है। हम इसकी चिंता करेंगे। वहीं शिवपाल की सपा में वापसी के सवाल पर सपा सुप्रीमो जवाब देने से बचते रहे। 

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप