मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कानपुर, जेएनएन। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय सीएसजेएमयू में जल्द ही योग का नेशनल सेंटर बनेगा। इसके लिए विवि की ओर से यूजीसी, मानव संसाधन विकास मंत्रालय और प्रदेश सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा। ये बातें विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो.नीलिमा गुप्ता ने कहीं। हालांकि सोमवार को सीएसजेएमयू राज्य का पहला विश्वविद्यालय बन गया जहां योग केंद्र का उद्घाटन हुआ।

इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ साइंस विभाग में हुए कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के योग गुरु पद्मश्री डॉ. एचआर नागेंद्र ने कहा कि योग सभी को करना चाहिए। इससे आप तनावमुक्त होकर जीवन जी सकते हैं। उन्होंने योग के कई लाभ बताते हुए कहा कि इसे सुबह उठकर करना तो बेहतर है ही साथ में रात में खाना खाने से पहले भी कर सकते हैं। कार्यक्रम के बाद डॉ. नागेंद्र, कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता, कुलसचिव डॉ. विनोद कुमार सिंह व अन्य प्रशासनिक अफसरों ने विभाग के बाहर पौधारोपण भी किया। दो दिनों तक यहां चलने वाले प्रशिक्षण शिविर की जानकारी विभाग के कोऑर्डिनेटर डॉ. प्रवीण कटियार ने दी। कार्यक्रम के बाद शुरू हुई प्रशिक्षण कार्यशाला में डॉ. एचआर नागेंद्र ने 50 प्रतिभागियों को योग के टिप्स दिए। यहां प्रो. संजय स्वर्णकार, डॉ. श्याम बाबू गुप्ता, डॉ.सरोज द्विवेदी, डॉ.आर पी सिंह आदि मौजूद रहे।

छात्र-छात्राएं करेंगे बीएससी योग की पढ़ाई

सीएसजेएमयू में अब छात्र-छात्रएं बीएससी योग की पढ़ाई कर सकेंगे। तीन वर्षीय इस पाठ्यक्रम के बाद वह 6 माह की इंटर्नशिप भी कर सकेंगे। इसके अलावा बेंगलुरु स्थित स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान से विश्वविद्यालय का मंगलवार को करार होगा। जिसके बाद छात्र वहां योग का प्रशिक्षण भी ले सकेंगे।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप