कानपुर, [मोहित गुप्ता]। पराग डेयरी के अबतक के इतिहास में शासन ने शायद पहली बार किसी पर इतनी बड़ी कार्रवाई की है। निराला नगर स्थित पराग डेयरी में तैनात प्रबंधक (वित्त) नीरज गुप्ता को बर्खास्त कर दिया गया है। मामला गौतमबुद्ध नगर में तैनाती के समय का है, जांच में हकीकत उजागर होने के बाद शासन ने ये फैसला लिया है।

इससे पहले गौतमबुद्ध नगर में थे तैनात

डेयरी डेवलपमेंट ऑफीसर संजय सिन्हा के मुताबिक निराला नगर स्थित दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड (पराग डेयरी) में प्रबंधक वित्त के पद पर तैनात नीरज गुप्ता पहले गौतमबुद्ध नगर स्थित पराग डेयरी में तैनात थे। पारिवारिक विवाद में उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार किया था और वह 10 दिन तक जेल में रहे थे। जमानत पर छूटे तो नियमानुसार उन्हें जेल जाने की सूचना विभाग को देनी चाहिए थी लेकिन, उन्होंने ऐसा नहीं किया।

विभाग से छिपाई जेल जाने की बात

पारिवारिक मामले में जेल में रहने की बात उन्होंने विभाग से छिपाई। इतना ही नहीं उन्होंने छुट्टी का प्रार्थना पत्र दे दिया। उनके जेल जाने की बात किसी को मालूम नहीं होने के कारण अवकाश स्वीकृत हो गया। चूंकि छुट्टी मंजूर हो गई थी इसलिए जेल में रहने की अवधि का भी वेतन मिल गया। पिछले दिनों इसकी जानकारी जब शासन को हुई तो पूरे प्रकरण की जांच कराई गई। आरोप सही पाए जाने पर 31 जुलाई को नीरज को बर्खास्त कर दिया गया।

चर्चा में आने के बाद हुआ था तबादला

पांच साल पहले गौतमबुद्ध नगर में तैनाती के दौरान जब नीरज गुप्ता पर मुकदमा दर्ज किया गया तो उन पर तरह के आरोप लगे। 10 दिन का लिया गया वेतन भी रिकवर किया गया। इसके बाद प्रबंधन ने उनका तबादला भी कानपुर के लिए कर दिया गया था।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek