कानपुर, जेएनएन। नौबस्ता गल्ला मंडी में 23 वर्षीय चाय दुकानदार की हत्या का सच सामने आया तो सभी दंग रह गए। पुलिस ने छोटे भाई और चाय दुकानदार की पत्नी को हिरासत में लेकर घटना का पर्दाफाश किया है। उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद करने के साथ एक साथी से भी पूछताछ शुरू की है।

गल्ला मंडी में मिला था रक्तरंजित शव

मूलरूप से खजुरी सुल्तानपुर निवासी बुजुर्ग, द्विवेदीनगर में किराये के मकान में रहते हैं और गल्ला मंडी में चाय का होटल चलाते हैं। उनके साथ ही दोनों बेटे भी दुकान पर बैठते हैं। चार अगस्त को 11 बजे उनका बड़ा बेटा दो घंटे में घर पहुंचने की बात कहकर निकला लेकिन लौटा नहीं। दो दिन बाद पिता ने गुमशुदगी लिखाई। उसी शाम को बेटे का शव मंडी में ही बंद पड़े शौचालय में मिला। इसके बाद छोटे भाई ने मंडी परिसर में चाय का होटल चलाने वाले दूसरे दुकानदार के भाई पर हत्या का शक जताया था।

देवर से थे अवैध संबंध

कॉल डिटेल व रिश्तेदारों से पूछताछ के बाद पुलिस ने आखिर घटना के खुलासे के करीब पहुंच गई। जांच में सामने आया कि चाय दुकानदार की पत्नी से उसका छोटा भाई बेइंतहा मोहब्बत करने लगा था। देवर और भाभी के बीच प्रेम संबंध काफी गहरे हो गए थे। उनके बीच अवैध संबंध बन जाने से दोनों एक दूसरे के काफी करीब आ गए थे। एक दिन चाय दुकानदार ने दोनों को साथ देख लिया था और छोटे भाई से भाभी के करीब जाने का विरोध करने लगा था। छोटा भाई मौका निकालकर भाभी से मिलता रहता था।

बड़े भाई को उतार दिया मौत के घाट

पुलिस को पता लगा कि मृतक की पत्नी के देवर से अवैध संबंध थे। इसपर छोटे भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो घटना का पर्दाफाश हुआ। नौबस्ता थाना प्रभारी समर बहादुर ने बताया कि भाभी से अवैध संबंधों के चलते छोटे भाई ने ही चाय दुकानदार की हत्या की थी। आरोपित की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद किया गया है और उसके साथी व मृतक की पत्नी से भी पूछताछ की जा रही है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek