कानपुर, जेएनएन। गंगा बैराज स्थित डेथ प्वाइंट में बुधवार शाम सेल्फी लेने के दौरान गोविंद नगर निवासी 26 वर्षीय अभिषेक वर्मा और बर्रा निवासी उसका साथी मनोज कश्यप डूब गए। शोर सुनकर दो युवकों ने गंगा में छलांग लगा मनोज को तो बचा लिया पर अभिषेक की डूबने से मौत हो गई।

अभिषेक लखनपुर स्थित एक कंपनी में सुपरवाइजर थे। बुधवार को मौसम अच्छा होने के चलते वह साथी दीपक और मनोज के साथ गंगा बैराज घूमने गए थे। शाम को तीनों डेथ प्वाइंट के पास खड़े होकर सेल्फी ले रहे थे तभी पैर फिसलने से अभिषेक गहरे पानी में चला गया। अभिषेक को डूबता देख मनोज बचाने के लिए कूद गया लेकिन तैरना न आने के कारण दोनों डूबने लगे। पानी का बहाव तेज होने से देखते ही देखते दोनों गहरे पानी में चले गए। इस दौरान दीपक ने वहां मौजूद लोगों से दोस्तों को बचाने की गुहार लगाई। इस पर कानपुर देहात के रनियां निवासी सद्दाम और अक्षय ने छलांग लगा दी।

काफी मशक्कत के बाद उन्होंने मनोज को तो बचा लिया लेकिन अभिषेक गहरे पानी में चला गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय गोताखोरों को बुलाकर अभिषेक की तलाश कराई। एक घंटे की तलाश के बाद अभिषेक को बाहर निकाला। पुलिस उसे एलएलआर अस्पताल (हैलट) ले गई जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंचे पिता संजय वर्मा, मां माया और भाई अभिजीत का रो-रोकर बुरा हाल हो गया।

मौत खींचकर ले गई दोबारा गंगा बैराज

दीपक ने बताया, बुधवार सुबह अभिषेक का फोन आया और उसने आफिस के साथी गोपाल के साथ बैराज में होने की बात बता उसे भी बुलाया। इसके बाद वह मनोज के साथ बैराज के लिए निकला। रास्ते में उन्होंने अभिषेक को फोन किया तो उसने मेडिकल कालेज पुल पर मिलने को कहा। वहां पहुंचने पर अभिषेक ने बताया कि गोपाल के घर में काम है इसलिए वह चला गया। इसके बाद अभिषेक दोबारा उन दोनों को गंगा बैराज ले गया।

मददगार बनकर पहुंचे सद्दाम व अक्षय

दीपक के मुताबिक अक्षय और सद्दाम उन्नाव जा रहे थे। मौसम सुहाना होने के कारण दोनों बैराज में रुक गए। उन्होंने हमारे दोस्तों को डूबता देख नदी में छलांग लगा दी। उन्होंने मनोज को तो बचा लिया लेकिन अभिषेक को नहीं बचा पाए।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek