जेएनएन, कानपुर : नयागंज की कैनाल पटरी पर गुरुवार सुबह शॉर्ट सर्किट से सात दुकानों में भीषण आग लग गई। दो दुकानदारों का परिवार भी लपटों में फंस गया, जिसे स्थानीय लोगों ने निकाला। घटना के एक घटे बाद दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

केनाल पटरी पर आनंदपुरी निवासी अमूल कुमार गुप्ता की तेल व रिफाइंड की दुकान है। गुरुवार सुबह करीब साढ़े चार बजे दुकान के बाहरी हिस्से में लटके बिजली के तारों में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। तेल के टीन फटने से आग भड़क उठी और उसने पड़ोस में राजेश गुप्ता व रमेश गुप्ता की लइया चना की दुकानों को भी चपेट में ले लिया। इसी बीच लइया की गाड़ी लेकर आये चालक ने शोर मचाकर दुकान के ऊपर रह रहे राजेश के परिवार को बताया। आसपास के लोग व दुकानों में सो रहे कर्मचारियों ने 100 व 101 नंबर पर फोन किया। साथ ही राजेश व रमेश के परिजनों को निकाला। सूचना पर फायर ब्रिगेड की गाड़िया करीब छह बजे आईं। तब तक आग ने पड़ोस में पन्नी की दुकान और पीछे एक्सप्रेस रोड की तरफ मौजूद डिस्पोजल गिलास व प्लेटों के कारोबारी मिर्जा भाइयों की तीन दुकानों को भी चपेट में ले लिया। देखते ही देखते तेल की दुकान समेत सातों दुकानें आग का गोला बन गईं। तेल की दुकान से बह रहे तेल में आग लगने से केनाल पटरी पर सामने की ओर दो दुकानें भी आग की चपेट में आ गईं लेकिन दमकल कर्मियों ने उसे बुझा लिया। दोनो ओर से पानी की बौछार कर करीब दो घटे बाद आग बुझाई जा सकी। तेल कारोबारी व अन्य दुकानदारों ने लाखों का नुकसान होने की बात कही। वहीं सीएफओ एमपी सिंह ने कहा कि दुकानदार के दोनों परिवारों को बचा लिया गया। आग के कारणों की जाच की जा रही है।

कपड़े व कॉपी-किताबें भी जल गईं

राजेश व उनके भाई रमेश के चार चार बच्चे हैं। आग में दोनों की गृहस्थी जल गई। कपडे व कॉपी-किताबें तक नहीं बचीं। हादसे के बाद दोनों परिवार रो रोकर बेहाल हो गए।

Posted By: Jagran