जागरण संवाददाता, कानपुर

रेलवे के प्लेटफार्म टिकट की भांति पीपीपी मॉडल के तहत विकसित होने वाले आधुनिक बस अड्डे के अंदर प्रवेश करने के लिए भी टिकट लेना पड़ेगा। हालांकि रेलवे स्टेशन में प्रवेश के लिए 10 रुपये का टिकट लेना पड़ता है, जबकि बस अड्डे में प्रवेश के लिए पांच रुपये देने होंगे।

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक पी गुरुप्रसाद ने 11 जून को लखनऊ के आधुनिक आलमबाग बस अड्डा पर ये नियम लागू कर दिया है। यात्रियों के अलावा जो कोई आलमबाग टर्मिनल में दाखिल होगा, उसे पांच रुपये का टिकट लेना होगा। आलमबाग टर्मिनल एक प्राइवेट कंपनी शालीमार मॉल्स प्रा. लि. (कंसेशनर) को 32 वर्षो के लिये अनुबंध कर लीज पर दिया गया है। इसी प्रकार शहीद मेजर सलमान खान अंतरराज्यीय झकरकटी बस अड्डा समेत कई बस अड्डे को 90 वर्ष की लीज पर देने का प्रस्ताव है।

इस संबंध में परिवहन विभाग के मुख्य महाप्रबंधक जयदीप वर्मा का कहना है कि पीपीपी मॉडल के तहत विकसित होने वाले बस अड्डों का अलग अलग चार्ज निर्धारित होगा। अभी आलमबाग टर्मिनल का चार्ज निर्धारित हुआ है। झकरकटी बस अड्डे के लिए अनुबंध की बात चल रही है। बस अड्डा जब विकसित हो जाएगा, तब यह चार्ज लगेगा।

---------------

इंसेट..

अड्डे पर सुविधाएं एवं रेट

ø बस यात्रियों को छोड़कर बस अड्डा परिसर में प्रवेश करने के लिये पांच रुपये प्रति व्यक्ति देय होगा।

ø बस अड्डे पर उच्च सुविधाएं जैसे एसी प्रतीक्षालय, एसी हाल, यूरिनल टायलेट व बॉथ, क्लार्क रूम का कितना चार्ज देना होगा, ये अनुबंध करने वाली कंपनी परिवहन अधिकारियों से बात कर तय करेगी।

ø परिवहन निगम के स्टाफ को उच्च अधिकारियों से स्वीकृत लेने के बाद नान एसी श्रेणी के वेटिंग रूम के लिए 25 रुपये प्रति 8 घंटे के लिए और एसी श्रेणी के वेटिंग रूम के लिए 35 रुपये प्रति 8 घंटे वैध होगा।

Posted By: Jagran