जागरण संवाददाता, कानपुर : मानक से करीब साढ़े तीन गुना तक बढ़ा वायु प्रदूषण अब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अफसरों की चिंता बढ़ा रहा है। अफसर जहां गंगा के पानी में प्रदूषण रोकने को दौड़-भाग कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर हवा में घुल रहे धूल के महीन कण कम करने के लिए फिलहाल कोई उपाय नहीं सूझ रहा है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की वेबसाइट पर जनवरी के जो आंकड़े जारी किए गए। उनमें मात्रा मानक से साढ़े तीन गुना तक अधिक निकली। हालांकि ऐसा नहीं है कि यह पहली बार हो। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी डॉ.मोहम्मद सिकंदर ने कहा वायु प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण जगह-जगह चल रही खोदाई है।

------------------------

ये है रिपोर्ट:

स्थान पीएम 10 की मात्रा

किदवई नगर 237.1

जरीब चौकी 247.7

पनकी साइट-1 265.7

शास्त्री नगर 220

आवास विकास कल्याणपुर 260.3

दादा नगर 343.3

आइआइटी कैंपस 147.1

रामादेवी 374.1

( मात्रा माइक्रोग्राम प्रति मीटर क्यूब में मापी गई है।)

-----------------------

ये है मानक:

- मानक के मुताबिक 100 माइक्रोग्राम प्रति मीटर क्यूब होनी चाहिए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस