जमीर सिद्दीकी, कानपुर

रेलवे बोर्ड ने कई छोटे स्टेशनों को आदर्श स्टेशन का दर्जा देते हुए उन्हें यात्री सुविधा के लिहाज से विकसित करने का फैसला लिया है ताकि सुपरफास्ट, वीआईपी व लंबी दूरी की ट्रेनों का ठहराव छोटे स्टेशनों पर समाप्त किया जाए।

उत्तर मध्य जोन के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी विजय कुमार ने बताया कि पहले चरण में झांसी रूट पर कालपी स्टेशन और दिल्ली हावड़ा रूट पर रूरा स्टेशन को आदर्श श्रेणी का दर्जा देते हुए उन्हें विकसित करने का फैसला लिया गया। साथ ही कई अन्य स्टेशनों को भी शामिल किया गया है। रेलवे बोर्ड ने कोहरे में हादसे बचाने के लिए शून्य दुर्घटना मिशन घोषित करते हुए ट्रैक पर 24 घंटे पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिये हैं ताकि यदि कहीं पटरी चटक जाए तो तुरंत उसका पता लग जाए। मानव रहित क्रासिंगों पर हादसे रोकने को विशेष सर्तकता बरतते हुए क्रासिंग पर बैनर लगाने के निर्देश दिए हैं।

----------------

इंसेट..

खाली पदों की सूची तलब

रेलवे बोर्ड ने उन खाली पदों की सूची तलब की है जिन पर भर्ती जरूरी है क्योंकि जरा सी चूक किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकती है। रेलवे बोर्ड ने ट्रैकमैन, कीमैन, गेटमैन समेत अन्य खाली पदों को भरने का फैसला लिया है।

---------------

इंसेट..

ऐसे होगी व्यवस्था

ø लंबी दूरी की ट्रेनों के ठहराव छोटे स्टेशनों से समाप्त हो जाएंगे।

ø छोटे स्टेशनों से बड़े स्टेशनों को कनेक्ट करने के लिये मेमू, पैसेंजर ट्रेनें चलाई जाएंगी।

ø आबादी क्षेत्र में टूटी रेलवे की बाउंड्रीवाल ठीक होगी।

ø छोटे स्टेशनों पर यात्री सुविधाएं जैसे प्रसाधन, बेंच, टिकट काउंटर, आरक्षण और खानपान सुविधा बढ़ेंगी।