जागरण संवाददाता, कन्नौज: माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा परीक्षा की रणभेरी बजाते ही केंद्रों के सत्यापन की प्रक्रिया तेज हो गई है। डीआइओएस ने सभी जीआइसी के प्रधानाचार्यों के साथ बैठक कर परीक्षा केंद्रों के भौतिक सत्यापन की जिम्मेदारी सौंपी है। डीआइओएस ने साफ निर्देश दिए कि बिना वॉइस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी वाले विद्यालय में परीक्षा नहीं कराई जाएगी।

मंगलवार को जिला विद्यालय निरीक्षक मदनपाल ¨सह ने बैठक में बताया कि जिले के 90 केंद्रो पर बोर्ड परीक्षा होगी। बोर्ड द्वारा निर्धारित मानकों की सूची सभी प्रबंधकों और प्रधानाचार्यों को दे दी गई है। अब परीक्षा का कार्यक्रम घोषित हो चुका है तो केंद्रों का सत्यापन होना आवश्यक है। सत्यापन रिपोर्ट के आधार पर ही बोर्ड की वेबसाइट पर परीक्षा केंद्र की फी¨डग की जाएगी। परीक्षा केंद्र पर वॉइस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी होना आवश्यक है। इसके बिना वह केंद्र नहीं रहेगा। इस दौरान जीआइसी प्रधानाचार्य डॉ.सुनील चतुर्वेदी, शिवमोहन कुशवाहा, रमाकांत अवस्थी, अजय कुमार, अनिल कुशवाहा, महेश यादव, ओमकार राजपूत, पूर्णिमा वर्मा, रूबी राठौर, हिमानी त्रिपाठी, शीलेंद्र ¨सह, आशीष कुमार, अमरेंद्र ¨सह, सत्यभान, मोहित शुक्ला मौजूद थे।

ये हैं बोर्ड परीक्षा के मानक

1-सीसीटीवी वॉइस रिकार्डर युक्त

2- बायोमीट्रिक मशीन

3- विद्युत व्यवस्था और जेनरेटर

4- कंप्यूटर और दो आपरेटर

5- अग्निशमन यंत्र

6- विद्यालय में चाहरदीवारी

7- लॉकयुक्त लोहे की अलमारी

8- उत्तर पुस्तिकाओं के लिए लोहे का बक्सा

9- बालक-बालिका के अलग-अलग शौचालय

10- पेयजल व्यवस्था

11- रोशनी और हवादार लेंटर्ड कमरे

काली सूची में शामिल परीक्षा केंद्र

1- रामेश्वरदयाल जावित्री देवी इंटर कालेज अमिलिया लाख- यहां पिछले साल परीक्षार्थियों के पास पुरानी उत्तर पुस्तिकाएं मिलीं थीं।

2- गुरुकृपा इंटर कालेज गुरसहायगंज- यहां 2017 में परीक्षार्थियों को जीवविज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र की जगह द्वितीय प्रश्नपत्र बांट दिया गया था।

3- मायादेवी इंटर कालेज शिवाजी नगर सरायमीरा- यहां पिछले वर्ष एसडीएम सदर ने प्रयोगात्मक परीक्षा में सामूहिक नकल पकड़ी थी।

Posted By: Jagran