थाना प्रभारी को हटवाने के लिए कराया था तालग्राम में बवाल

संवादसूत्र, तालग्राम (कन्नौज) : पुलिस ने सांप्रदायिक बवाल के मास्टर माइंड और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक थाना प्रभारी को हटवाने के लिए मास्टर माइंड ने बवाल की पटकथा तैयार की थी। उसने दस हजार रुपये का लालच देकर गोकसी करने वाले व्यक्ति से मंदिर में प्रतिबंधित मांस के टुकड़े रखवाए थे। एसओजी टीम ने पहले एक आरोपित को गिरफ्तार किया, इसके बाद उसकी निशानदेही पर मास्टर माइंड को भी दबोच लिया। पुलिस ने दोनों को कोर्ट में पेश किया, जहां से 14 दिन रिमांड पर जेल भेज दिया गया। अब तक इस मामले में पुलिस 18 आरोपितों को जेल भेज चुकी है।

शुक्रवार को एसओजी प्रभारी विक्रम सिंह, थानाध्यक्ष जितेंद्र सिंह व उपनिरीक्षक संजीव कुमार की टीम ने छिबरामऊ रोड पर ईदगाह के पास ग्राम रसूलाबाद निवासी मंसूर पुत्र लतीफ को गिरफ्तार कर लिया। उसकी निशानदेही पर पुलिस तीन छुरी, एक गड़ासा, एक कुल्हाड़ी व एक खाल बरामद की है। पुलिस से पूछताछ में मंसूर ने बताया कि ग्राम रनवां निवासी चंचल त्रिपाठी ने उसे दस हजार रुपये का लालच दिया था और मंदिर में मांस के टुकड़े रखने के लिए कहा था। इसके पीछे तत्कालीन थाना प्रभारी हरिश्याम सिंह को हटाने की मंशा थी। उसकी थाना प्रभारी से अनबन थी। विदित हो कि 16 जुलाई को रसूलाबाद में शिवमंदिर में प्रतिबंधित मांस मिला था, जिसके बाद वहां सांप्रदायिक बवाल हो गया था। अराजक तत्वों ने कई मूर्तियों को क्षतिग्रस्त कर दिया था। इस मामले में शासन ने डीएम-एसपी को हटा दिया था तो थाना प्रभारी समेत दारोगा को निलंबित कर हटा दिया गया था। करीब 26 दिन बाद एसओजी टीम ने मास्टर माइंड चंचल त्रिपाठी व मंसूर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

---------------

थाना प्रभारी को हटवाने के लिए दी थी आत्मदाह की धमकी

तालग्राम थानाध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने बताया कि मास्टर माइंड चंचल त्रिपाठी ने तत्कालीन थाना प्रभारी हरिश्याम सिंह को हटवाने के लिए इंटरनेट मीडिया पर आत्मदाह की धमकी दी थी और उन पर जातिवाद के आरोप भी लगाए थे। उस समय एसपी प्रशांत वर्मा ने चंचल को चेतावनी देकर छोड़ दिया था। एसपी के तबादले के बाद थाना प्रभारी को हटवाने के लिए चंचल ने अपने साथियों से मिलकर सांप्रदायिक बवाल कराने की पटकथा तैयार की, जिसमें वह सफल भी हो गया। मंसूर पेशेवर कसाई है, जिसे रुपयों का लालच देकर उसने मंदिर में मांस के टुकड़े रखवा दिए थे।

----------------

चंचल ही सांप्रदायिक बवाल का मुख्य मास्टर माइंड है, जबकि उसके साथ अन्य कई लोग और भी हैं। पुलिस ने सभी को चिन्हित कर लिया है और उनकी गिरफ्तारी के लिए एसओजी को लगाया गया है। थाना प्रभारी को हटवाने के लिए उसने सोची-समझी साजिश के तहत बवाल कराया था। पकड़े गए आरोपितों पर निरोधात्मक कार्रवाई की जाएगी। जल्द ही पूरे घटनाक्रम का राजफाश किया जाएगा।

-कुंवर अनुपम सिंह, पुलिस अधीक्षक

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट