संवाद सहयोगी, तिर्वा: न्यायालय से आदेश पर कब्जा दिलाने गई राजस्व व पुलिस टीम पर एक पक्ष ने हमला कर दिया। अफसरों के साथ धक्का-मुक्की की। आरोप है कि तहसीलदार और दारोगा पर फावड़े से हमला करने का प्रयास किया। हमलावरों ने विवादित जमीन पर बने कूप में आग लगा दी। इससे ऊपर से गुजरी बिजली केबल जलकर टूट गई।

शनिवार शाम चार बजे तहसीलदार अनिल कुमार सरोज, राजस्व निरीक्षक हिमांशु पांडेय, क्षेत्रीय लेखपाल धर्मवीर सिंह, राकेश बाबू, अजय चौहान, अमन श्रीवास्तव, पुलिस टीम से दारोगा संजीव कुमार, कांस्टेबल विपिन कुमार, संतोष कुमार, महिला कांस्टेबल रीना कनौजिया व प्रीति तोमर परसोहा गांव गए थे। तहसीलदार ने बताया कि परसोहा गांव के छेदालाल व शिवशंकर के बीच जमीन का विवाद एसडीएम न्यायालय में चल रहा था। आदेश पारित होने पर छेदालाल को कब्जा दिलाने के लिए टीम के साथ गांव गए थे। वहां पर आरोपित हमलावर हो गए। आरोपितों ने न्यायालय के आदेश समेत अन्य सरकारी प्रपत्र फाड़ कर फेंक दिए। भूसे के कूप में आग लगा दी। कूप के ऊपर से निकली बिजली की केबल जलने से टूटकर गिर गई। इससे भीगी पड़ी जमीन पर करंट उतर आया। पुलिस व राजस्व टीम बाल-बाल बच गई। आरोप है कि तीन महिलाओं समेत नौ लोगों ने राजस्व व पुलिस टीम से धक्का मुक्की शुरू कर दी। जान से मारने की धमकी से तहसीलदार पर फावड़ा से हमला कर दिया। हालांकि वह बच गए। जब दारोगा ने फावड़ा छीनने की कोशिश की तो उन पर भी हमला कर दिया। हालांकि प्रकरण में किसी को चोट नहीं आई। पुलिस व राजस्व टीम ने मौके से दो महिलाओं समेत चार को पकड़ लिया। चारों को कोतवाली में बैठा दिया। राजस्व निरीक्षक हिमांशु पांडेय ने मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है।

------

ढ़ाई घंटे बाद भी सीओ को नहीं भनक

घटना को लेकर जब सीओ दीपक दुबे से बात की गई तो प्रकरण के बारे में जानकारी न होने की बात कही। सीओ ने बताया कि इस प्रकार की जानकारी नहीं है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक से जानकारी की जाएगी। पुलिस व राजस्व टीम पर हमला करने वालों को बख्सा नहीं जाएगा।

---------

सरकारी कार्य में बाधा डालने, न्यायालय के आदेश को फाड़ देना, राजस्व व पुलिस टीम पर हमला को लेकर विधिक कार्रवाई होगी। मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जाएगा।

जयकरन, एसडीएम

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप