संवाद सूत्र, सौरिख: बीमार पिता का हाल जानने को मायके जा रही महिला ठेली पर पर्स भूल गई। इसमें रखे रुपये व जेवरात पुलिस को मिले। ईमानदारी की मिशाल पेश करते हुए पुलिस ने महिला को वह रुपये व जेवरात लौटाए।

जिला औरैया थाना एरवा कटरा के गांव भटपुरा निवासी नाजरीन बेगम का मायका विशुनगढ़ के ग्राम अहिरुआ में है। गुरुवार को वह पति मुस्तकीम अली व पुत्र सोनू के साथ बीमार पिता अयूब अली को देखने मायके जा रही थी। सौरिख पहुंचने पर बच्चे को भूख लगी। इस पर महिला फल विक्त्रेता से कुछ फल खरीदने लगी। इसके बाद मायके को चली गई और नकदी व जेवरात रखे पर्स को भूल गई। कुछ देर बाद ठेली लगाए युवक की निगाह पड़ी तो उसने इसे ड्यूटी पर तैनात उपनिरीक्षक अभिषेक शुक्ला व कांस्टेबल ललित सिंह को दे दिया। कुछ सफर तय करने के बाद महिला को याद आया तो वह वापस फल विक्रेता के पास पहुंची। फल विक्रेता ने महिला को थाने भेज दिया। थाने पर मौजूद दरोगा व सिपाही ने महिला को पर्स दिया। महिला ने इसे खोला। पर्स में 10 हजार रुपये नगद, एक जोड़ी कुंडल, एक सोने की चैन रखी थी। दंपती ने पुलिस की कार्यशैली की सराहना की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस