सड़क से लेकर सदन तक सपा उठाएगी मामला

संवाद सूत्र, चपुन्ना : बालिका के स्वजन को न्याय दिलाने के लिए सपा सड़क से लेकर सदन तक मामले को उठाएगी। बालिका के साथ हुई घटना सहित अन्य बिंदुओं की रिपोर्ट सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को भेजी जाएगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष विधानसभा में इस मुद्दे को उठाएंगे।

गुरुवार को यह बात समाजवादी पार्टी की ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर थाना सौरिख के गांव पहुंचे प्रतिनिधिमंडल में शामिल सपा के पूर्व विधायक अनिल दोहरे ने कही। कहा कि बालिका के साथ की गई घटना की वह सभी निंदा करते हैं। बीजेपी सरकार में बदमाश क्षेत्र से भाग जाएंगे या अपराध छोड़ देंगे के दावे किए जा रहे थे। ऐसा लगता है कि सत्ता संरक्षित लोग घटनाएं कर रहे हैं। सरकार के लोग उन्हें बचाने का कार्य कर रहे हैं। इस घटना से परिवार, समाज व क्षेत्र के सभी लोग दुखी हैं। प्रशासन धमकी देने वालों को पकड़ कर ले जाता और छोड़ देता है। सत्ता के लोग उन्हें बचाने का प्रयास कर रहे हैं। सुरक्षा के लिए दिन में दो सिपाही रहते हैं। रात को वह चले जाते हैं। ऐसे में बालिका के स्वजन भयभीत हैं। स्वजन को धमकियां मिल रही हैं। इससे पहले प्रतिनिधिमंडल ने स्वजन से वार्ता की। कार्रवाई की जानकारी कर हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। सपा महिला सभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष जूही सिंह ने वीडियो काल पर बालिका की मां से बातचीत की। प्रतिनिधिमंडल में जिलाध्यक्ष मोहम्मद कलीम खान, पूर्व विधायक कन्नौज अनिल दोहरे, इंजीनियर अनिल पाल, विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष शरद यादव, महिला सभा की प्रदेश सचिव शशिमा सिंह व जिला अध्यक्ष कंचन कनौजिया शामिल रहे। इस दौरान रामलखन प्रजापति व राजेश कठेरिया मौजूद रहे।

यह थी घटना

18 मई को 10 वर्षीय बालिका दोपहर बाद लापता हो गई थी। 19 मई को शव मक्के के खेत में मिला था। दुष्कर्म के बाद बालिका की हत्या की गई थी। आरोपित अर्जुन को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। पुलिस ने मामले में चार्जशीट लगा दी। इस बीच अरोपित के चचेरे भाइयों ने बालिका के भाई को धमकाया था। उनके खिलाफ शांतिभंग की कार्रवाई की गई।

बालिका के स्वजन ने जीवन की मांगी सुरक्षा

बालिका की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले को लेकर स्वजन भयभीत हैं। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया है। दिन में पुलिस कर्मियों के घर पर तैनात रहने और शाम को चले जाने की घटना से स्वजन परेशान हैं। बालिका के भाई ने पुलिस अधीक्षक से सुरक्षा तैनात कराए जाने की मांग की। बताया कि उन्हें व पिता सहित अन्य स्वजन को जान का खतरा है। आरोपित के चचेरे भाई जान से मारने की धमकी दे चुके हैं। रात में भी पुलिस लगाया जाना जरूरी है।

Edited By: Jagran