संवाद सहयोगी, तिर्वा: केरल में बाढ़ से हुई तबाही देखकर लौटी डॉक्टरों की टीम ने जब अपने साथियों से हालात बयां किए, तो मेडिकल कालेज के सभी डॉक्टरों ने राहत के लिए धनराशि भेजने का फैसला लिया।

राजकीय मेडिकल कालेज के प्राचार्य डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि दैनिक जागरण में केरल की तबाही की खबरों को देख इलाज के लिए डॉक्टरों को भेजने का फैसला लिया था। फिजियोलॉजी के डॉ. दुर्गेश कुमार के नेतृत्व में टीम भेजी गई थी। सात दिनों तक टीम ने केरल के बाढ़ ग्रसित कुमली, लेड़ी पेरियार, पुल्लू, कुजहूर व किचौवाइल कस्बे में शिविर लगाया था। डॉ. दुर्गेश ने बताया कि करीब दो हजार से अधिक मरीजों का इलाज किया था। यहां पर गंदे पानी से फैलने वाली कई बीमारियां फैल चुकी है। इनको रोकने के लिए वैक्सीन, दवाओं का छिड़काव किया गया। मरीजों को बाढ़ ग्रसित क्षेत्रों से निकालने के बाद उनको सुरक्षित जगहों पर भेज दिया गया है। उनका इलाज पूरा करने के बाद टीम वापस लौटी है।

Posted By: Jagran