मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, कन्नौज : एक पखवारे पहले मानीमऊ क्षेत्र में जीटी रोड पर फिल्मी स्टाइल में हुए गोली कांड की जड़ें बहुत गहरी हैं। इसमें आरोपियों को बचाने के लिए पुलिस से लेकर चिकित्सकों की खामियों की परतें अब उधड़ने लगी हैं। आरोपियों को पकड़ने में दिलचस्पी न लेने पर एएसपी ने मानीट¨रग सीओ सदर को दी है। गहनता से पड़ताल में कई खामियां सामने आ रही हैं।

सदर क्षेत्राधिकारी लक्ष्मीकांत गौतम ने बताया कि गोली कांड की मेडिकल रिपोर्ट में भी खेल किया गया है। इसमें पीड़ित विकास कटियार को गोली लगने की बात साफ तौर पर हटा दी गई है। किसी धारदार हथियार या नुकीली चीज से चोट लगने का हवाला दिया गया है। इसकी जांच कराई जा रही है। कहीं न कहीं मेडिकल रिपोर्ट में गड़बड़ी हुई है। बताया कि आरोपियों की दो जगह लोकेशन मिली है। उसी के आधार पर उनको पकड़ने के लिए टीमें भेजी गई हैं। जल्द आरोपियों को पकड़ा जाएगा। वहीं, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. आरपी शाक्य ने बताया कि किसी के गोली लगती है तो उसके निशान शरीर पर छूट जाते हैं। एक्सरे में इसकी पुष्टि होनी चाहिए। कहीं गड़बड़ी हुई है तो जांच की जाएगी। गौरतलब है कि सदिकापुर में पांच मार्च को मासूम मिलन का शव मिलने की सूचना पर कानपुर नगर के थाना बिल्हौर अंतर्गत मोहल्ला लक्ष्मी बाई नगर निवासी विकास कटियार, बहन पम्मी व मौसी ऊषा कटियार को बाइक से कन्नौज आ रहे थे। इसी दौरान कार सवारों ने विकास को गोली मारी थी। पीड़ित पर आरोपियों ने दबाव बनाने की कोशिश भी की है। इसके बाद अफसरों ने मामले को संज्ञान में लिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप