जागरण संवाददाता, कन्नौज : छह दिन पहले जीटी रोड चौड़ीकरण के दौरान कटे बीएसएनएल के आप्टिकल फाइबर केबल (ओएफसी) को नहीं जोड़ा जा सका। इस कारण फोन व इंटरनेट सेवा पूरी तरह से ठप है। निजी से लेकर सरकारी कामकाज प्रभावित हैं।

शुक्रवार को सदर तहसील के जलालापुर पनवारा ओवरब्रिज के पास जीटी रोड चौड़ीकरण के दौरान बीएसएनएल का आप्टिकल फाइबर केबल कट गया था। इससे नगर समेत आसपास ग्रामीण इलाकों के मोबाइल व इंटरनेट सेवा बंद हो गई थी। शनिवार को टीम ने फाल्ट तलाशा और मरम्मत की, लेकिन कुछ देर बाद दूसरी जगह केबल कट गया, जो अब तक नहीं सुधारा जा सका है। इस कारण छह दिन से फोन व इंटरनेट सेवा पूरी तरह से बंद है और मरम्मत के लिए टीम डटी है, लेकिन बुधवार शाम तक केबल नहीं जोड़ा जा सका। उपमंडल अभियंता संजय सोनकर भी डटे रहे। वहीं, छह दिन से बीएसएनएल का नेटवर्क ठप होने से आम उपभोक्ताओं के साथ सरकारी विभागों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इंटरनेट बंद है तो अधिकारी व कर्मचारी बीएसएनएल के सीयूजी नंबर होने के कारण शासन-प्रशासन से संपर्क नहीं कर पा रहे हैं। हालांकि बीएसएनएल की लाइन कटना व ठप होना जिले में आम बात हो गई है, जो सुधार के बजाय लापरवाही के कारण बदहाल होता जा रहा है।

------

बीएसएनएल उपभोक्ता न बताएं ओटीपी

साइबर ठग अब बीएसएनएल उपभोक्ताओं को निशाना बनाने लगे हैं। इस तरह की फोन काल व एसएमएस आने पर सावधान रहने को कहा गया है। उपमंडल अभियंता संजय सोनकर ने बताया कि उपभोक्ताओं के मोबाइल फोन पर केवाइसी अपडेट न होने के फोन काल व एसएमएस आ रहे हैं, जो ठगों के हैं। फोनकर या एसएमएस कर केवाइसी अपडेट न होने की बात कहते हैं और उसी नंबर पर ओटीपी भेजकर मांगते हैं। इससे उपभोक्ता सावधान रहें। किसी तरह की जानकारी व ओटीपी न बताएं। मोबाइल पर आए ओटीपी बताने से बैंक खाता, पेटीएम व गूगल पे समेत हैक कर रुपये निकाल लेते हैं।

Edited By: Jagran