जागरण संवाददाता, कन्नौज : चुनाव के साथ अब कोरोना पर ज्यादा जोर दिया जाने लगा है। वैक्सीन का दूसरा डोज न लगवाने वालों की संख्या अधिक है, जिन्हें काल करने के लिए कर्मियों की संख्या बढ़ाई गई है। साथ ही कंट्रोल रूम को विकास खंडवार बांटा गया है, जिसका मुख्य विकास अधिकारी खुद नेतृत्व कर रहे हैं।

जिले में कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज करीब 99 हजार लोगों को लगना है। अधिकांश लाभार्थियों के दूसरे डोज की तारीख निकल चुकी है तो कई किसी कारण टीका नहीं लगवा रहे हैं। इधर, संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इस समय निर्वाचन कार्य भी चल रहा है, लेकिन उससे अधिक अब टीकाकरण पर जोर दिया जाने लगा है। विकास भवन में कोरोना कंट्रोल रूम संचालित है, जहां से दूसरा डोज न लगवाने वाले लाभार्थियों को काल कर जानकारी देकर प्रेरित किया जा रहा है। ऐसे में जल्द से जल्द टीकाकरण के लिए कंट्रोल रूम की क्षमता बढ़ा दी गई है। शनिवार को मुख्य विकास अधिकारी आरएन सिंह ने कंट्रोल रूम को आठ विकास खंडवार बांट दिया। हर ब्लाकस्तर पर दस-दस कर्मी और लगाए, जिन्हें डीआरडीए, सभागार उपनिदेशक कृषि कार्यालय समेत अन्य जगह बैठाया गया है। सभी कर्मियों को काल करने के लिए लाभार्थियों की सूची दी गई है। हर कंट्रोल रूम का एक प्रभारी अधिकारी भी बनाया है। सभागार में जिला विकास अधिकारी नरेंद्र देव द्विवेदी, पीडी सुशील कुमार सिंह, दिव्यांग जनसशक्तीकरण अधिकारी तनुज त्रिपाठी, डीपीओ राजेश कुमार, पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी अनुपम राय के साथ बैठक की, जिसमें सभी को टीकाकरण की जानकारी देकर काल करने के तौर-तरीके बताए। इसके बाद सभी कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया।

कहीं टीम तो कहीं नहीं पहुंची वैक्सीन

कंट्रोल रूम के अलावा नगर व ग्रामीण इलाकों में लोगों को जागरूक करने के लिए प्रधान, लेखपाल, पंचायत सहायक, आंगनबाड़ी, आशा, एएनएम, रोजगार सेवक समेत सभी को लगाया गया है, जो लोगों को जागरूक करने के अलावा साथ ले जाकर टीका लगवा रहे हैं, लेकिन शनिवार को कुछ जगह टीम नहीं पहुंची तो कहीं वैक्सीन नहीं पहुंची। यह शिकायत मुख्य विकास अधिकारी से की गई है। उन्होंने संबंधित को फोन कर मौके पर टीम भेज टीकाकरण कराया है।

Edited By: Jagran