संवाद सहयोगी, तिर्वा (कन्नौज) : बि¨ल्डग बनाने व मशीन लगा देने से इलाज नहीं होता। इसके लिए बेहतर चिकित्सकों की जरूरत है। चार माह में बदलाव दिखाई पड़ेगा। डॉक्टर भी पुरानी आदत में सुधार लाएं। सोमवार को अचानक राजकीय मेडिकल कालेज तिर्वा पहुंची राज्यमंत्री अर्चना पांडेय ने यह बातें कहीं।

निरीक्षण के दौरान खामियों को देखकर उन्होंने नाराजगी जताई। सीएमएस डॉ. दिलीप ¨सह व इमरजेंसी प्रभारी डॉ. शादाब से कहा कि खामियों को दुरुस्त कर लीजिए। मुख्यमंत्री से मेडिकल कालेज में विशेषज्ञ डॉक्टरों की स्थायी तैनाती कराने की पैरवी होगी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष नरेंद्र राजपूत, सूर्य कांत दीक्षित, संदीप भदौरिया, शैलेंद्र प्रताप ¨सह, आनंद प्रताप ¨सह, त्रिलोकीनाथ चतुर्वेदी, सौरभ गुप्ता आदि रहे।

Posted By: Jagran