जागरण संवाददाता, कन्नौज : सपा परिवारवाद तो बसपा जातिवादी राजनीति करती रही। अब भाजपा सबको साथ लेकर विकास के पथ पर चल चुकी है। इसीलिए विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत मिला। भाजपा ऐसी पार्टी है, जहां भोगी नहीं योगी (आदित्य नाथ योगी) मुख्यमंत्री बनते हैं। प्रदेश में शहर से लेकर गांव तक कहीं भी अवैध खनन पर प्रभावी कार्रवाई होगी। लापरवाही करने वाले अफसर सीधे नपेंगे।

यह बातें पर्यटक आवास गृह में पहली बार पत्रकारों से रूबरू खनन, आबकारी व मद्य निषेध राज्यमंत्री अर्चना पांडेय ने कहीं। कहा कि अभी तक पदभार नहीं संभाला है लेकिन पार्टी के संकल्प पत्र के अनुरूप विकास कार्यो को प्रमुखता देने का खाका खींच लिया है। पूरे प्रदेश में खनन को रोकने के लिए मंडलायुक्त, डीएम व एसपी को निर्देश जारी किए गए हैं। इसमें हाईकोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए बालू व मौरंग के अवैध खनन पर प्रभावी कार्रवाई की हिदायत दी गई है। सरकार नियमों का सख्ती से पालन कराएगी। बालू खनन के पुराने पट्टे समाप्त कर नई पारदर्शी नीति लागू की जाएगी। इसका खनिज नीति नाम दिया गया है। इसी हिसाब से आम जन मानस की जरूरत को देखते हुए बालू व मौरंग की उपलब्धता कराई जाएगी। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे समेत कई योजनाओं में नदियों से अवैध खनन कर राजस्व को चूना लगाया गया है। इसकी उच्चस्तरीय जांच कराई जाएगी। इसके बाद कड़ी कार्रवाई होगी। राम मंदिर के निर्माण के सवाल का जवाब वह टाल गईं। कहा कि इसे सरकार देखेगी।

सबको मिलेगी निर्बाध बिजली

सूबे में सत्ता परिवर्तन होते ही बिजली कटौती के सवाल पर कहा कि सिर्फ कन्नौज व खास जिलों को तवज्जो नहीं दी जाएगी। आने वाले समय में सभी को एक सामान निर्बाध आपूर्ति मिलेगी। जिले की पहली महिला मंत्री पर महिलाओं के लिए क्या प्राथमिकता रहेगी पर कहा कि मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी ने एंटी रोमियो टीम बनाई है। आने वाले दिनों में इसे प्रभावी बनाया जाएगा।

सपा सरकार के कब्जेदार हटेंगे

राज्यमंत्री का रुख अवैध कब्जों को लेकर भी कड़ा दिखाई पड़ा। कहा कि सपा सरकार में सरकारी व अन्य जमीनों पर कब्जा करने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी। अफसरों को ऐसे लोगों को चिह्नित करने के निर्देश दिए गए हैं। भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष सुब्रत पाठक, जिलाध्यक्ष नरेन्द्र राजपूत, पूर्व विधायक बनवारी लाल दोहरे, मुनीष मिश्रा, अवधेश कुमार, सूर्य कांत दीक्षित, सचिन शर्मा समेत कई भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

अवैध खनन के कारण हारी सपा

खनन के कारण पूर्ववर्ती सरकार में गृह कलह शुरू हुआ। विभागों के बंटवारे को लेकर पार्टी में खींचतान शुरू हुई। इससे विधानसभा चुनाव में सपा को मुंह की खानी पड़ी। इससे पहले राज्यमंत्री ने पूर्ण बहुमत की सरकार बनने पर बधाई दी।

Posted By: Jagran