कन्नौज, जागरण संवाददाता : अचानक मौसम का रुख बदलते ही तमाम बीमारियों ने पैर पसार लिए हैं। बुधवार को बड़ों के साथ वायरल फीवर, डायरिया, निमोनिया और कालरा से ग्रसित 160 बच्चे जिला अस्पताल पहुंचे। इसमें अधिकांश बच्चों में फोड़ा-फुंसी की नई बीमारी देख चिकित्सक दंग रह गए।

मौसम बदलने से कई तरह की बीमारियां फैल गईं हैं। अभी तक लोग वायरल फीवर से ग्रसित थे। अचानक तेज धूप और उमस ने बड़ों के साथ सैकड़ों बच्चों को डायरिया, निमोनिया और कालरा से ग्रसित कर दिया। बाल रोग चिकित्सक डॉ. सुमित सचान ने बताया वायरल फीवर कई दिनों से फैला है। बुखार से पीड़ित बच्चों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। इसे काबू ही नहीं कर पाए थे कि अचानक डायरिया, निमोनिया, टाइफाइड और कालरा की चपेट में सैकड़ों बच्चे आ गए। बुधवार को ओपीडी में लगभग 160 बच्चों का उपचार किया गया। वहीं बच्चों में फोड़ा-फुंसी की नई बीमारी देखी गईं।

वायरल फीवर के लक्षण

- तेज सर दर्द, बदन दर्द

- 3-4 दिन तक तेज बुखार आना

- जुखाम और आंखे लाल होना

- खांसी आना

डायरिया के लक्षण और बचाव

- आसपास गंदगी, बारिश का पानी न एकत्र होने दें।

- बच्चों को ओआरएस और ¨जक दें।

- खासकर नवजात को ढककर रखें और मां का दूध पिलाएं।

- पानी उबाल कर दें, बाहरी और बासी चीजें न खाएं।

हर मर्ज की दवा एक

संयुक्त जिला अस्पताल में ओपीडी के दौरान छोटे हों या बड़े सभी को एक ही दवाई दी जा रही है। ऐसे में मरीजों का स्वस्थ होना संभव नहीं। बाल रोग चिकित्सक डॉ. सुमित सचान ने बताया कि अधिकांश मरीजों को बुखार और एंटी एलर्जी दी जा रही है। ज्यादा गंभीर होने पर एंटीबायोटिक के साथ जांच कराई जाती है।

यही आलम रहा तो छोड़कर भाग जाऊंगा : डॉ. सुमित

ओपीडी में मेले की तरह उमड़े सैकड़ों बच्चों को अकेले बाल रोग चिकित्सक डॉ. सुमित सचान देख रहे थे। उन्होंने अपनी पीड़ा जाहिर की। बताया अस्पताल अव्यवस्थाओं से जूझ रहा है। ओपीडी में कोई और बाल रोग चिकित्सक नहीं है। ऐसे में अकेले सैकड़ों बच्चों को देख पाना उनके बस में नहीं है। इस बारे में सीएमएस से कई बार बता चुके हैं। काम का इतना बोझ होने पर भी उनकी ड्यूटी एसएचसीवी, एनआरसी में लगा दी जाती है। रविवार और जन्माअष्टमी के दिन पीएम ड्यूटी का फरमान आ गया है। उनकी सुनने वाला कोई नहीं है, यही आलम रहा तो मै अस्पताल छोड़कर भाग जाऊंगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021