झांसी, जेएनएन। दुनिया भर में बर्ड फ्लू की दहशत का बड़ा असर शुक्रवार को झांसी में भी देखने को मिला। यहां पर आठ कौओं के शव मिलने के बाद खलबली मच गई। बर्ड फ्लू की आशंका के कारण यहां पर झांसी जिला प्रशासन तत्काल हरकत में आ गया।

विदेश के बाद भारत में कई राज्यों मे बर्ड फ्लू की दस्तक के साथ ही उत्तर प्रदेश के पशु पालन के साथ ही स्वास्थ्य विभाग को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। इसी बीच झांसी जिले के प्रेमनगर थाना क्षेत्र में सेंट जोन्स अकादमी परिसर में गुरुवार को आठ कौओं की आकस्मिक मौत की खबर मिलने पर खलबली मच गई। इस सूचना केबाद पशु चिकित्सा विभाग के साथ नगर निगम भी तत्काल हरकत में आ गया। अब इसकी पड़ताल हो रही है कि इन आठ कौओं की मौत किस कारण हुई है। प्रेमनगर थाना क्षेत्र में सेंट जोन्स चर्च के पादरी फादर सदानन्द के अनुसार विद्यालय परिसर में करीब रोज एक-दो कौओं की मौत हो रही है। इनके बीस गुरुवार आठ कौओं की मौत से दहशत फैल गई। बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए इस बात की आशंका है कि इनकी मौत भी बर्ड फ्लू कारण हुई है। नगर निगम व पशु चिकित्सा विभाग जांच पड़ताल कर रहा है।

नगर निगम के पशु चिकित्सा और कल्याण अधिकारी डॉ. राम किशोर निरंजन बड़ी संख्या में कौओं की मौत का कारण अधिक सर्दी मान रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि किसी अन्य कारण से मौत के मामले की भी जांच की जा रही है।

झांसी के जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने कहा कि कौओं के शव से ब्लड सैंपल की जांच मंडलीय लैब में कराई गई थी। किसी भी मृत कौओं में बर्ड फ्लू वायरस के कोई लक्षण नहीं है। जिले में बर्ड फ्लू का कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है। जिला प्रशासन पल-पल नजर बनाए हुए हैं। यहां पर देशी और विदेशी पक्षियों की मौत की जानकारी मिलने पर तत्काल पक्षी के शव को कब्जे में लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा है। बर्ड फ्लू को लेकर झांसी जिला प्रशासन संवेदनशील है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन की तैयारियां पूरी हैं। 

Edited By: Dharmendra Pandey