झांसी , जेएनएन। FIR in Money Laundering Act: झांसी से गरौठा (Garotha) से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के विधायक रहे दीप नारायण सिंह यादव (Deep Narayan Singh Yadav) पर शिकंजा कसता जा रहा है। गैंगस्टर (Gangster) को पुलिस अभिरक्षा के छुड़ाने के प्रयास में तीन दिन पहले जेल भेजे गए दीप नारायण सिंह यादव के खिलाफ अब मनी लांड्रिंग का केस (Case of Money Laundering) दर्ज किया गया है।

झांसी के गरौठा से लगातार दो बाद विधायक रहे दीप नारायण सिंह यादव पिछला चुनाव हारे थे। दंबग छवि के विधायक के खिलाफ अब आपराधिक मामले बढ़ते जा रहे हैं। गैंगस्टर को पुलिस की अभिरक्षा से छुड़ाने के प्रयास में 26 सितंबर को जेल भेजे गए दीप नायारण सिंह यादव के खिलाफ अब ईडी ने मनी लांड्रिंग के तहत केस दर्ज किया है।

प्रिवेंशन आफ मनी लांड्रिंग एक्ट

प्रयागराज प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने प्रिवेंशन आफ मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत मुकदमा किया है। इस प्रकरण की जांच के लिए ईडी की टीम झांसी भी आ सकती है। उनके खिलाफ 30 जुलाई 2022 को विजिलेंस ने झांसी में मुकदमा दर्ज किया था। विजिलेंस ने उन पर आय से 23 करोड़ रुपए अधिक पाए जाने पर एफआईआर दर्ज की थी। इसी मुकदमे को आधार बनाते हुए दीप नारायण के खिलाफ ईडी की प्रयागराज यूनिट में मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया है। इससे दीप नारायण की मुश्किलें बढ़ना तय माना जा रहा है।

पांच दिन की कस्टडी रिमांड

झांसी पुलिस ने कोर्ट में दोबारा अर्जी दाखिल कर दीप नारायण सिंह यादव की पांच दिन की कस्टडी रिमांड मांगी है। इस अर्जी पर शनिवार को सुनवाई होगी। इससे पहले पुलिस छह घंटे की रिमांड लेकर पूछताछ कर चुकी है।

कुख्यात अपराधी लेखराज यादव को पुलिस कस्टडी से छुड़ाने की कोशिश की साजिश के आरोप में झांसी के गरौठा से पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह यादव झांसी जेल में बंद हैं।

आय से अधिक सम्पत्ति का केस दर्ज

दीप नारायण सिंह यादव पर इसके साथ ही विजिलेंस ने आय से अधिक सम्पत्ति का केस दर्ज किया है। झांसी में चंद रोज पहले ही आयकर छापों में भी पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह के प्रतिष्ठान को भी खंगाला गया था।  

Edited By: Dharmendra Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट