झांसी (जेएनएन)। जूनियर इंजीनियर को अपने झांसे में लेने के प्रयास में लगा एक फर्जी दारोगा आज असली पुलिस की गिरफ्त में आ गया। मध्य प्रदेश पुलिस की वर्दी पहने फर्जी दारोगा के पास से सोने की 1330 नकली गिन्नी भी मिली है।

झांसी में आज मध्य प्रदेश का एक दारोगा सड़क पर रौब झाड़ रहा था। शक होने पर जब पुलिस ने पकड़ा तो हकीकत सामने आ गई। इसके पास से मध्य प्रदेश पुलिस के दारोगा का एक फर्जी परिचय पत्र भी मिला है। सीपरी बाजार थाना इंचार्ज विजय पाण्डेय ने इस दारोगा को नाटकीय अंदाज में पकड़ा। सीपरी बाजार पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से एक तमंचा, कारतूस, मध्य प्रदेश पुलिस के दारोगा की नकली वर्दी तथा सोने की 1330 नकली गिन्नी बरामद की है।

कल देर रात एसएसपी विनोद कुमार के निर्देशन में सीपरी बाजार थानाध्यक्ष विजय पांडे ओर उनकी पुलिस टीम गश्त कर रही थी, तभी मुखबिर से सूचना मिली कि एक मध्य प्रदेश पुलिस के दारोगा की वर्दी पहले एक युवक शिवपुरी रोड पर घूम रहा है। सीपरी पुलिस ने घेराबंदी कर उसे दबोच लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से एक तमंचा, चार जिंदा कारतूस, नकली सोने के ढेरों सिक्के बरामद किए।

इसने अपना नाम जयपाल सिंह बघेल निवासी दिनारा (शिवपुरी) बताया है। पुलिस ने उसके एक साथी को भी गिरफ्तार किया है, जो लोगों को असली सोना बेचने का लालच देकर नकली सोना थमा देते थे। जयपाल सिंह झांसी में विवाह करने के प्रयास में था। वह दारोगा बनकर रेलवे के जूनियर इंजीनियर की बेटी से 21 जून को विवाह करने की तैयारी में था। उसको 18 लाख रुपये दहेज मिल रहा था। बीते दिनों शिवपुरी रोड पर यहां के नन्दनपुरा के पास विवाह घर में उसकी सगाई भी हुई थी। 

Posted By: Dharmendra Pandey