- महिला और वरिष्ठ नागरिक सहित अन्य कोटा के टिकिट पर अभी नहीं मिल रही है रियायत

झाँसी : कोरोना काल में किया गया स्पेशल ट्रेन संचालन अब सामान्य हो चला है, लेकिन अभी भी इन सामान्य ट्रेन में मिलने वाली राहत यात्रियों को नहीं मिल रही है। रेलवे द्वारा वरिष्ठ नागरिक व महिला यात्री अलावा विभिन्न श्रेणी के यात्रियों को आरक्षित टिकिट पर रियायत दी जाती रही है, लेकिन वर्तमान में यह सभी सुविधाएं विभाग ने बन्द कर रखी हैं। वहीं, ट्रेन संचालन सामान्य होने के बाद भी प्रतिदिन अप-डाउन करने वाले यात्रियों को राहत नहीं मिल पा रही है।

कोरोना काल की शुरूआत से लेकर अब तक रेलवे ने स्पेशल ट्रेन का संचालन ही किया है। जैसे ही संक्रमण की स्थिति में सुधार आया तो रेलवे बोर्ड ने स्पेशल ट्रेन संचालन में बदलाव कर उसे सामान्य नम्बर के साथ ही चलाने के आदेश दे दिए। बोर्ड के इस आदेश के बाद स्पेशल ट्रेन का किराया चुकाने वाले यात्रियों को काफी राहत महसूस हो रही है। वहीं, सामान्य ट्रेन संचालन के बाद अब तक विभिन्न श्रेणी में मिलने वाले रियायती कोटे का लाभ फिलहाल नहीं दिया जा रहा है। इसके अलावा अभी चल रही ट्रेन में दैनिक रूप से यात्रा करने वाले यात्रियों मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। सामान्य नम्बर से चल रहीं इन ट्रेन में अभी एमएसटी और अनारक्षित टिकिट पर यात्रा की अनुमति नहीं है। इसके चलते अप-डाउन करने वाले यात्रियों के पास अभी केवल अनारक्षित ट्रेन का ही सहारा है। वहीं, सर्दी के मौसम में यह अनारक्षित ट्रेन अपने निर्धारित समय से लेट हो जाती हैं, जिससे दैनिक यात्री अपने समय पर गन्तव्य तक नहीं पहुँच पा रहे।

इन्हें मिलती है ट्रेन में रियायत

रेलवे द्वारा सामान्य ट्रेन में यात्रा के लिए विभिन्न वर्गो को रेल टिकिट पर विभिन्न श्रेणी के कोच में रियायती किराये पर यात्रा करने की अनुमति दी जाती है। इनमें छात्र, गम्भीर बीमारी कैंसर आदि के रोगी, वरिष्ठ नागरिक, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता, युद्ध शहीद की विधवा, नियमानुसर विभिन्न प्रयोजन में शामिल होने जा रहे युवा, कृषि, औद्योगिक प्रदर्शनी में जाने वाले किसान, कलाकार, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर खेलने जाने वाले खिलाड़ी, ऐलोपैथि चिकित्सक, मान्यता प्राप्त पत्रकार के अलावा कुछ और श्रेणी के यात्रियों को रेल में नियमानुसार रियायत दी जाती है।

अभी इन्हें मिल रही रियायत

रेलवे द्वारा निर्धारित अधिकांश श्रेणी के टिकिट पर मिलने वाली रियायत फिलहाल निलम्बित है। वर्तमान में कैंसर पीड़ित यात्री को उपचार के लिए जाने और दिव्यांग यात्रियों को ही टिकिट किराये पर रियायत दी जा रही है।

इन ट्रेन में ही यात्रा कर पा रहे दैनिक यात्री

झाँसी मण्डल से वर्तमान में लगभग 7 जोड़ा अनारक्षित ट्रेन संचालन किया जा रहा है। इनमें सभी ट्रेन लगभग प्रत्येक स्टेशन पर रुकने वाली पैसिंजर ट्रेन है। इनमें झाँसी-आगरा एक्सप्रेस, आगरा-झाँसी एक्सप्रेस, झाँसी-कानपुर मेमू कानपुर-झाँसी मेमू, झाँसी-बाँदा-मानिकपुर मेमू, झाँसी-लखनऊ इण्टरसिटि शामिल हैं। प्रतिदिन अप-डाउन करने वाले एमएसटी और अनारक्षित टिकिट धारक इन्हीं ट्रेन में सफर कर सकते हैं।

जनरल कोच के लिए भी लेना पड़ रहा आरक्षित टिकिट

रेलवे ने भले ही ट्रेन संचालन और नम्बर सामान्य हो गया हो, लेकिन इन ट्रेन में पहले की तरह जनरल कोच में यात्रा के लिए मान्य होने वाली सुपरफास्ट अनारक्षित टिकिट नहीं चलेगा। यदि आप इन ट्रेन से अप-डाउन करने की सोच रहे हैं तो इन ट्रेन में न तो एमएसटी चलेगी और न ही अनारक्षित टिकिट काम आएगा।

फोटो हाफ कॉलम

:::

इन्होंने कहा

'अभी सामान्य ट्रेन संचालन में रेलवे बोर्ड की गाइडलाइन अनुसार कैंसर के मरी़ज, दिव्यांग यात्रियों को किराये में रियायत दी जा रही है। फिलहाल अन्य कोटा निलम्बित हैं।'

मनोज कुमार सिंह

मण्डल रेल जनसम्पर्क अधिकारी (झाँसी)

फाइल : वसीम शेख

समय : 06 : 40

2 दिसम्बर 2021

Edited By: Jagran