0 आग लगते ही मच गई थी चीख-पुकार

0 कई यात्री ट्रेन रुकने से पहले ही जान बचाने के लिए कूदे

झाँसी : हेतमपुर के पास बर्निग ट्रेन बनी ऊधमपुर-दुर्ग सुपरफास्ट एक्सप्रेस में आग कैसे और कहाँ से लगी, इसकी पुष्टि तो जाँच के बाद होगी लेकिन अब तक जो तस्वीर सामने आई है, उससे स्पष्ट हो रहा है कि ए-2 कोच के टॉयलेट में सबसे पहले धुँआ उठा, जिसने विकराल आग का रूप धारण किया। कोच में सवार यात्रियों ने भी ऐसे ही बयान दिए हैं।

शुक्रवार को हेतमपुर के पास हुए हादसे की जाँच ते़जी से की जा रही है। प्रधानमन्त्री कार्यालय से रिपोर्ट माँगने के बाद अधिकारी छोटे-छोटे साक्ष्य एकत्र कर रहे हैं, ताकि किसी तरह की चूक सामने नहीं आ सके। शनिवार को रेलवे मुख्यालय द्वारा गठित 4 सदस्यीय टीम ने कोच का निरीक्षण किया, जबकि इससे पहले सीआरएस ने जाँच की। मुरैना की फॉरेन्सिक टीम ने भी साक्ष्य जुटाए। इस चौतरफा जाँच का केन्द्र यही थी कि आखिर आग कहाँ से उठी और कैसे फैली? शुरूआती जाँच व यात्रियों के बयान ने अधिकारियों को दिशा दे दी है। यात्रियों ने बताया कि ए-2 कोच के टॉयलेट में सबसे पहले धुँआ उठा, जिसके बाद आग फैलती चली गई और 2 अन्य एसी कोच भी इसकी चपेट में आ गए। आग की लपटें उठते ही यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। चेन पुलिंग करने से ट्रेन धीमी हुई, जिस पर कई यात्री जान बचाने के लिए कूद गए।

राजस्थान के हनुमान गढ़ में रहने वाले राकेश ने सबसे पहले धुँआ उठते देखा

ऊधमपुर-दुर्ग एक्सप्रेस के ए-2 कोच में पत्‍‌नी कविता के साथ सफर कर रहे राजस्थान के हनुमानगढ़ ़िजले के रहने वाले राकेश कुमार वह शख्स हैं, जिन्होंने सबसे पहले टॉयलेट से धुँआ उठते देखा था। घटना के बाद सकुशल अपने घर पहुँच चुके राकेश ने बताया कि वह 47 नम्बर बर्थ पर सफर कर रहे थे। उनकी पत्‍‌नी टॉयलेट गई थी। इसी बीच 55 साल के एक बुजुर्ग ने दुर्गन्ध आने की बात कही। इस पर राकेश टॉयलेट के पास पहुँचे तो उन्हें धुँआ उठता दिखाई दिया। उन्होंने तत्काल सामने वाली टॉयलेट में गई पत्‍‌नी को आवा़ज लगाई तथा अन्य यात्रियों को भी सचेत किया, जिस पर एक यात्री ने चेन खींच दी। राकेश ने बताया कि ट्रेन रुकने से पहले ही आग की लपटें निकलने लगी थीं।

हेतमपुर पहुँचे सीआरएस, आग लगने की खोजी वजह

0 रेलवे स्टेशन पर खड़े तीनों कोच की जाँच की

0 रेलवे बोर्ड को देंगे घटना की रिपोर्ट

झाँसी : मण्डल के शुरूआती स्टेशन पर बर्निग ट्रेन बनी ऊधमपुर-दुर्ग सुपरफास्ट एक्सप्रेस में हुए हादसे की जाँच के लिए मुख्य संरक्षा अधिकारी (सीआरएस) मोहम्मद लतीफ खान आज हेतमपुर पहुँचे। उन्होंने तीनों कोच में आग लगने के कारणों की जाँच की। वह रेलवे बोर्ड को अपनी रिपोर्ट देंगे।

शुक्रवार को हेतमपुर रेलवे स्टेशन के पास ऊधमपुर-दुर्ग सुपरफास्ट एक्सप्रेस के एसी कोच में लगी आग की घटना ने रेल प्रशासन को हिला दिया है। हादसे में कोई यात्री भले ही हताहत नहीं हुआ हो, लेकिन इस घटना ने ट्रेन की सुरक्षा व संरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं। यही वजह है कि रेल प्रशासन द्वारा घटना के प्रत्येक पहलू की पड़ताल में जुट गई है। रेलवे की सबसे बड़ी सीआरएस जाँच भी शुरू हो गई है। शनिवार को मुख्य संरक्षा अधिकारी मोहम्मद लतीफ खान हेतमपुर पहुँचे। उन्होंने आग से जल चुके कोच में जाकर आग लगने की वजह तलाशी। हादसे के चश्मदीद रेलवे स्टाफ से वार्ता भी की। सीआरएस द्वारा दी जाने वाली रिपोर्ट के बाद अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी।

फाइल : राजेश शर्मा

Edited By: Jagran