झाँसी : अक्सर में देखते-सुनते हैं कि ट्रेन में केटरिंग द्वारा दिया जाने वाला भोजन स्वादिष्ट नहीं है या फिर सम्बधित यात्री को अपने खाने लायक नहीं लगता है। बावजूद इसके उन्हें वही भोजन करना मजबूरी होता है जो ट्रेन के केटरिंग स्टाफ ने बनाया है। उन्हें अलग से भोजन की कोई सुविधा नहीं मिलती। अब आइआरसीअीसी (इण्डियन रेलवे कैटरिंग ऐण्ड टूरि़ज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड) अपने सभी ट्रेन में यात्रियों के लिए सम्बधित रूट को ध्यान में रखकर विशिष्ट व्यंजन और क्षेत्र के मशहूर उत्पाद की व्यवस्था कर रहा है।

मिलेगा उस क्षेत्र का मशहूर खाने-पीने का सामान

आइआरसीटीसी द्वारा की जा रही व्यवस्था के तहत यात्रियों को ट्रेन में ही आगरा का पेठा, मुरैना की गजक, बीकानेर का रसगुल्ला, गया का लोकप्रिय व्यंजन अनारसा जैसे उत्पाद अच्छी क्वॉलिटि के मिलेंगे। इसके अलावा सम्बधित क्षेत्र का प्रसिद्ध पेय प्रदार्थ भी यात्रियों को ऑन डिमाण्ड परोसे जाएंगे। आइआरसीटीसी की यह व्यवस्था देश के 1200 स्टेशन पर उपलब्ध होगी।

पायलट प्रोजेक्ट के तहत मिल रहा है अच्छा रूझान

आइआरसीटीसी के अधिकारियों का कहना है कि कोविड 19 के बाद अगस्त माह से यात्रियों के लिए ऑन डिमाण्ड यह सुविधा शुरू की गई है। इसमें यात्रियों की ओर से उत्साहजनक व रिकॉर्ड बुकिंग हो रही है। प्रतिदिन 20 ह़जार ऑर्डर देने का लक्ष्य तय किया है। और इसी माह अक्टूबर के अन्त तक 32 ह़जार ऑर्डर बुक करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

फाइल : वसीम शेख

समय : 05 : 45

25 अक्टूबर 2021

Edited By: Jagran