झाँसी : एक नवयुवती का शव ससुराल में फाँसी के फन्दे पर लटका मिला। ससुराल वाले इसे खुदकुशी बता रहे हैं तो मायके पक्ष ने दहेज के लिए हत्या किए जाने का आरोप लगाया है।

बड़ागाँव थाना क्षेत्र के ग्राम दिगारा निवासी राघवेन्द्र की पत्‍‌नी बबीता (21) ने बीते रो़ज शाम को घर में फाँसी लगा ली। परिजनों की सूचना पर पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। मृतका के पिता टहरौली थाना क्षेत्र स्थित ग्राम लुहरगाँव घाट निवासी दशरथ ने बड़ागाँव पुलिस को बताया कि उसकी बेटी की शादी दिगारा निवासी राघवेन्द्र के साथ हुई थी। विवाह के बाद से ही ससुराल वाले बेटी को प्रताड़ित करते थे। उसने आरोप लगाया कि गर्भपात कराने के बाद उसकी बेटी की हत्या करके शव को फाँसी पर लटका दिया गया। पुलिस ने उसकी सूचना पर ससुराल पक्ष के राघवेन्द्र, गोकुल प्रसाद, श्रीमती सम्पत, जितेन्द्र, चाँदनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

दो दिन से लापता अधेड़ का शव मिला

झाँसी : बबीना थाना क्षेत्र स्थित ग्राम चमरौआ ढिमरपुरा निवासी आशाराम (50) पुत्र दुर्जन दो दिन पहले अपने घर पर बिना किसी से कुछ कहे निकल गया था। देर शाम तक जब वह वापस नहीं आया तो परिजनों ने उसकी तलाश की लेकिन उसके बारे में कोई पता नहीं चला। परिजन उसे रिश्तेदारी व अन्य स्थानों पर तलाशते रहे। शुक्रवार की सुबह उसका शव गाँव के पास से निकली पहूज नदी की एक नहर से मिला। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। पुलिस के अनुसार मृतक के सिर में पत्थर से टकराए जाने के निशान हैं। सम्भवत: पैर फिसलने से वह पानी में गिर गया और पत्थर से टकराकर बेहोश हो गया। बेहोशी में पानी में डूबने से उसकी मौत हो गई।

मदन यादव

समय- 5.50 बजे

22 अक्टूबर

Edited By: Jagran