फोटो - रामराजा मन्दिर की

:::

0 पुष्य फाउण्डेशन पटना व पुष्य सेवा समिति ओरछा का परिचय सम्मेलन आज

0 ओरछा मन्दिर प्रशासन व ़िजला प्रशासन के साथ मिलकर रामराजा मन्दिर व आसपास के सुन्दरीकरण की बनायी जाएगी योजना

0 जुलाई 2021 से कार्य कर रही है समिति, कई कार्य किए

झाँसी : यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल ओरछा को और भव्यता प्रदान करने तथा ओरछा नगरी के सुन्दरीकरण में आम लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिए पुष्य फाउण्डेशन पटना व पुष्य सेवा समिति ओरछा ने कई कदम उठाए हैं। समिति ने रामराजा मन्दिर वआसपास के परिसर के सुन्दरीकरण का कार्य हाथ में लिया है। अब इस कार्य में क्षेत्रीय नागरिकों तथा शासन के बीच समन्वय स्थापित करने की योजना है। इसको लेकर निवाड़ी, टीकमगढ़ व झाँसी के गणमान्य लोगों के साथ 25 सितम्बर की शाम 7 बजे एक बैठक का आयोजन ओरछा पैलेस में किया गया है।

ओरछा रामराजा मन्दिर के विकास व सुन्दरीकरण के लिए मन्दिर प्रशासन व ़िजला प्रशासन मिलकर कार्य कर रहा है। परन्तु, शुरू से ही श्रद्धालु व भक्त रामराजा मन्दिर के विकास में भागीदारी चाहते हैं। अब ऐसे लोगों के लिए पुष्य फाउण्डेशन पटना ने भी एक मंच तैयार किया है। उल्लेखनीय है कि पुष्य फाउण्डेशन पटना मन्दिरों के जीर्णोद्धार व सुन्दरीकरण के साथ सामाजिक व सांस्कृतिक विकास के लिए काम करता है। इस संस्था ने जुलाई 2021 से ओरछा में सुन्दरीकरण के कार्य हाथ में लिए हैं। इसके लिए मन्दिर परिसर के दोनों ओर स्थित कमरों के फर्श पर ग्रेनाइट लगाए गए। मुख्य भवन के सामने संगमरमर लगाने, श्री राजेश्वर महादेव मन्दिर का सुन्दरीकरण, श्रीरामराजा धर्मशाला का जीर्णोद्धार, मन्दिर परिसर की सभी सीढि़यों पर धौलपुर पत्थर लगाने तथा मन्दिर के प्रवेश व निकास पर सैनिटाइ़जेशन टनल लगाने का कार्य किया जा रहा है। साथ ही श्रीरामराजा मन्दिर परिसर स्थित रघुपति भवन में श्री रामराजा गैलरी बनवाने के लिए 4 ह़जार वर्ग फिट का एक हॉल व शेड बनाकर मध्यप्रदेश के संस्कृति विभाग को सौंप दिया गया है। इस गैलरी का जल्द ही उद्घाटन होना है। इसके अलावा यहाँ आने वाले साधकों व आम लोगों के लिए कम्युनिटि किचन भी प्रारम्भ किया है।

पुष्य फाण्डेशन पटना ने स्थानीय नागरिकों को जोड़ने तथा उनकी मंशा से ही कार्य को आगे बढ़ाने के लिए पुष्य सेवा समिति ओरछा का गठन किया है। इस समिति में शामिल लोगों को एक मंच पर लाने तथा आपसी समझ से सुन्दरीकरण को आगे बढ़ाने के लिए 25 सितम्बर की शाम 7 बजे ओरछा पैलेस में एक बैठक बुलायी है। संस्था के मैनिजिंग ट्रस्टी डॉ. मोहनाथ मिश्रा व सचिव सुलभ अग्रवाल ने बताया कि इस परिचय सम्मेलन का उद्देश्य सदस्यों के बीच आपस में सम्बन्ध व सम्पर्क बढ़ाना है। इस कार्य में बिहार के पटना के साथ लखनऊ, भोपाल, कानपुर और अन्य जगह के लोग भी जुड़े हैं। परिचय सम्मेलन में इन लोगों के अलावा ओरछा, निवाड़ी, टीकमगढ़ व झाँसी के गणमान्य लोगों को आमन्त्रित किया गया है। इसी बैठक में सुन्दरीकरण के कार्यो पर लोगों की सलाह ली जाएगी और उसी आधार पर कार्य को आगे बढ़ाया जाएगा।

यह कार्य भी है प्रस्तावित

0 मन्दिर प्रशासन व ़िजला प्रशासन को मन्दिर के सुन्दरीकरण के कई प्रस्ताव दिए गए हैं। इसमें मन्दिर के आँगन, गलियारा के फर्श को संगमरमर में बदलना, जल निकासी की व्यवस्था शामिल है।

0 मन्दिर के मुख्य गर्भ गृह का सुन्दरीकरण, छत को सुदृढ़ बनाने व मन्दिर परिसर के सुन्दरीकरण का प्रस्ताव है।

0 दैनिक भण्डारा व प्रसाद वितरण का भी प्रस्ताव है। इसमें साधकों को बेहद कम मूल्य में भोजन उपलब्ध हो सकेगा।

फाइल-रघुवीर शर्मा

24 सितम्बर 21

Edited By: Jagran