फोटो : 15 जेएचएस 31

डीआइजी जोगेन्द्र कुमार

:::

0 सतर्कता और जागरूकता से ही रोका जा सकता है साइबर अपराध

0 कुछ लोग लालच में पड़कर गँवा बैठते हैं अपनी मेहनत की जमा पूँजी

0 गलत तरीके से बैंक खाते से निकाले लाखों रुपए पुलिस ने किए बरामद

झाँसी : ऑनलाइन पैसे का लेन-देन जहाँ सहूलियत है तो वहीं एक छोटी-सी गलती इसमें दुश्वारी बन जाती है। हालाँकि साइबर अपराधी इतने शातिर होते हैं, जो बिना कुछ खास जानकारी दिए बिना भी लोगों के बैंक खाते में सेन्ध लगा देते हैं। तिनका-तिनका कर जोड़ा गया पैसा जब खाते से खिसक जाता है तो उस व्यक्ति पर क्या गु़जरती है यह तो वहीं जानता है, लेकिन आज पुलिस ने ऐसा कारनामा कर दिया, जिससे वह चेहरे आज खुशी से खिल उठे जो कल तक मेहनत की कमाई चली जाने से मुरझाए हुए थे।

पुलिस उप महानिरीक्षक झाँसी परिक्षेत्र झाँसी जोगेन्द्र कुमार के मार्ग दर्शन और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीणा के निर्देशन व नोडल अधिकारी साइबर क्राइम/पुलिस अधीक्षक (नगर) विवेक त्रिपाठी के पर्यवेक्षण में थानों से प्राप्त हो रही साइबर अपराध की शिकायतों पर काम किया। प्रभारी निरीक्षक शिवशंकर सिंह की टीम ने पिछले माह अगस्त में साइबर ठगों द्वारा अपने खाते में स्थानान्तरित किए गए पैसे को वापस पीड़ितों के खाते में पहुँचा दिया। पुलिस उपमहानिरीक्षक ने बताया कि ग्वालियर रोड निवासी राजकुमार वर्मा के खाते से 3 लाख रुपए निकाल लिए गए थे। इसी प्रकार सीपरी बा़जार निवासी डॉ. नीति शास्त्री के बैंक खाते से लगभग 1 लाख रुपए, हँसारी के गोविन्द नगर निवासी अशोक कुमार के खाते से 72 ह़जार रुपए, जानकीपुरम कॉलनि निवासी रमेश चन्द्र गुप्ता के खाते से 1 लाख रुपए निकाल लिए थे। साइबर टीम ने इन सभी का पैसा वापस दिलाकर उनके खाते में ट्रांस्फर कर दिया। उन्होंने बताया कि अब तक पंजीकृत अभियोग में 11 का अनावरण कर 17 शातिर साइबर अपराधियों को जेल भेजा जा चुका है। अब तक करीब 40 लाख रुपए पीड़ितों को वापस दिलाया जा चुका है। कुछ और मुकदमों के 42 लाख से अधिक रुपए खातों में फ्री़ज हैं, जिनको वापस दिलाने का प्रयास न्यायालय के माध्यम कराया जा रहा है।

टीम में यह रहे शामिल

साइबर अपराधियों को पकड़कर रुपए वापस दिलाने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक शिवशंकर सिंह, उपनिरीक्षक राहुल सिंह, कम्प्यूटर ऑपरेटर अबुल हसन, सिपाही सचिन तिवारी, नरेश कुमार, मोहम्मद इमरान, आशुतोष, शरद कुमार, अनिल कुमार, रोहित चौरसिया, अमन कटियार शामिल रहे।

बीच में बॉक्स

:::

साइबर अपराध होने पर यहाँ दें सूचना

यदि आप साइबर अपराधियों के षड्यन्त्र का शिकार हो गए हैं, तो तुरन्त 155260 पर कॉल करें। इसके साथ ही वॉट्सऐप 7839876648 व 9454409751 पर डिटेल भेज सकते हैं। इसके साथ ही ई-मेल .. भी कर सकते हैं।

15 इरशाद-4

समय : 9.45 बजे

Edited By: Jagran