0 कोविड मरी़जों को भर्ती करने से कर रहे इन्कार, ़िजलाधिकारी ने दी चेतावनी

झाँसी : कोरोना मरी़जों की सुविधा के लिए चिह्नित किए गए 35 प्राइवेट अस्पतालों में से 16 ने हाथ खड़े कर दिए हैं। प्रशासन की लिस्ट में शामिल यह अस्पताल कोविड मरीजों को भर्ती करने से इन्कार कर रहे हैं। यह सभी अस्पताल अब ़िजलाधिकारी के रडार पर आ गए हैं। संचालकों को पानी-बिजली का कनेक्शन काटने की चेतावनी दी गई है।

कोविड का संघर्ष बढ़ने के बाद प्रशासन ने मेडिकल कॉलिज के साथ आसपास के 35 निजी चिकित्सालयों को भी चिह्नित कर कोविड मरी़जों के उपचार की व्यवस्था कराई थी। इन अस्पतालों में ऑक्सिजन की आपूर्ति से लेकर अन्य संसाधन उपलब्ध कराए गए, लेकिन 16 प्राइवेट अस्पतालों ने मानव सेवा के इस पुनीत कार्य से पीछा छुड़ा लिया है। मेडिकल कॉलिज में आने वाले मरी़जों को जब इन अस्पतालों में भेजा जा रहा है तो अस्पताल से उन्हें वापस लौटाया जा रहा है। इससे मरी़जों की हालत और बिगड़ रही है। व्यवस्थाओं में रोड़ा अटकाने वाले यह प्राइवेट अस्पताल अब प्रशासन के रडार पर आ गए हैं। ़िजलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने बताया कि अस्पताल संचालकों को चेतावनी दी जा चुकी है। शुक्रवार से अगर यह अस्पताल कोविड मरी़जों का उपचार करने से इन्कार करते हैं तो इनकी बिजली व पानी का कनेक्शन काट दिया जाएगा।

ऑक्सिजन की जमाखोरी करने पर होगी एफआइआर

़िजलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने बताया कि कोविड मरी़जों को उपचार न देने वाले अस्पतालों पर कार्यवाही की जाएगी तो ऐसे अस्पतालों की भी निगरानी बढ़ा दी गई है, जो ऑक्सिजन सिलिण्डर की जमाखोरी कर रहे हैं। ऐसे अस्पताल व निजी लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की जाएगी।

जागरण अपील

0 ऑक्सिजन का अधिक अभाव होने के कारण जब बहुत आवश्यक न हो ऑक्सिजन का उपयोग न किया जाए।

0 घर में अनावश्यक रूप से ऑक्सिजन सिलिण्डर का स्टोर न करें।

0 रेमडेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता कम है, इसलिए विकल्प के तौर पर डेक्टा मेटासोन इंजेक्शन का उपयोग करें।

0 बहुत आवश्यक होने पर ही घर से निकलें।

0 घर पर नियमित व्यायाम करते रहें।

0 हरी सब़्जी व हाई प्रोटीन युक्त भोजन का सेवन करें।

0 यदि किसी तकलीफ का ऑपरेशन टाला जा सकता है तो कुछ दिन इन्त़जार के बाद ही ऑपरेशन कराएं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप