झाँसी : लॉकडाउन घोषित होते ही अधिकांश लोगों ने स्वयं को घर में समेट लिया है, लेकिन ऐसे लोग भी काफी हैं, जो इस व्यवस्था का उल्लंघन करने सड़क पर आ रहे हैं। पर, इनके बीच कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो स्वयं तो जागरूक हैं ही, दूसरों को भी जागरूक कर रहे हैं। ऐसे कुछ ऩजारे आज देखने को मिले। ऐसे लोगों को 'जागरण' का सलाम।

फोटो : 26 एसएचवाई 35, बीकेएस 109

:::

मामला 1 : ईसाईटोला स्थित निर्मला कॉन्वेण्ट से पहले रहने वाली नीता माहौर नागरिक सुरक्षा संगठन में हैं। उन्होंने घर से ही समाज में चेतना लाने का निर्णय लिया। नीता के परिजन किराना की दुकान चलाते हैं। आज उन्होंने दुकान पर आने वाले ग्राहकों के बीच दूरी बनाने के लिए निश्चित दूरी पर गोले बनाकर लाइन लगवाई। सभी को मास्क पहनने की सलाह दी। इसके साथ ही बिना मास्क के घूमने वाले लोगों को भी रोक कर कोरोना वायरस के ख़्ातरे से अवगत कराया।

फोटो : 26 बीकेएस 111

:::

मामला 2 : पुलिया नम्बर 9 निवासी कालका प्रसाद, राहुल कुमार, हाजी शफीक अहमद, श्याम लाल, नेकीराम, जगमोहन, उमाचरण नागरिक सुरक्षा संगठन में रहकर बड़ी ़िजम्मेदारी निभा रहे हैं। इन्होंने भी फिलहाल सोशल डिस्टेंस पर फोकस किया है और पुलिया नम्बर-9 की अधिकांश दुकानों के पास गोले बनाकर लोगों को जागरूक करने का निर्णय लिया है।

:::

फोटो : 26 बीकेएस 112

:::

गाँव-गाँव प्रचार करेंगे वाहन

झाँसी : कोरोना वायरस के बारे में ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए ़िजला पंचायत राज विभाग ने 8 प्रचार वाहन सड़क पर उतार दिए हैं। यह वाहन प्रत्येक ब्लॉक के सभी गाँव में जाएंगे और लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के तरीके बताए जाएंगे। लॉकडाउन का उल्लंघन न हो, इसलिए वाहनों में सिर्फ माइक के माध्यम से ही उद्घोषणा की जाएगी। वाहनों का शुभारम्भ सांसद प्रतिनिधि अतुल अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर ़िजला पंचायत राज अधिकारी जगदीश राम गौतम, ़िजला समन्वयक सन्तोष प्रजापति, राजीव हिंगवासिया आदि उपस्थित रहे।

फोटो : 26 एसएचवाई 41

:::

पानी के लिए तोड़ा लॉकडाउन

0 काँशीराम कॉलनि में 3 दिन से जलापूर्ति ठप

0 लोगों ने किया हंगामा, ऑपरेटर पर मनमानी का आरोप

झाँसी : 3 दिन से पानी के लिए तरस रहे काँशीराम कॉलनि के लोगों ने आज लॉकडाउन तोड़ दिया। हैण्डपम्प पर पानी के लिए भीड़ लग गई। हंगामे की स्थिति बनने के बाद पुलिस व जल संस्थान के अधिकारी पहुँचे, लेकिन समस्या का निराकरण नहीं हो सका।

काँशीराम कॉलनि में पिछले कई दिन से जलापूर्ति प्रभावित है। वेतन न मिलने के कारण ऑपरेटर ने जलापूर्ति ठप कर दी है। 12 मार्च को लोगों ने जल संस्थान का घेराव किया तो अधिकारियों ने ऑपरेटर का वेतन देकर जलापूर्ति सुचारू करने का आश्वासन दिया था, लेकिन वादा पूरा नहीं हुआ। पिछले 3 दिन से जलापूर्ति पूरी तरह से ठप होने के बाद आज कॉलनि के लोगों ने हंगामा कर दिया। पुलिस को सूचना दी गई, जिसके बाद जल संस्थान के अधिकारी भी पहुँचे। अधिकारियों ने समस्या का निराकरण कराने की बात कही, लेकिन शाम तक जलापूर्ति शुरू नहीं हो सकी। इस अवसर पर पवन कुमार गोस्वामी, मंजू कुशवाहा, अर्चना अहिरवार, राजेन्द्र प्रसाद लिटौरिया, शीला श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे।

एक हैण्डपम्प का आसरा

कॉलनि में 8 हैण्डपम्प हैं, जिसमें से 7 ख़्ाराब हैं। 1 हैण्डपम्प कॉलनि के लोगों ने चन्दा कर सुधरवा लिया है। अब यही अकेला हैण्डपम्प कॉलनि की प्यास बुझा रहा है, जिस पर लोगों की भीड़ लगी रहती है। लॉक डाउन के बावजूद लोग सोशल डिस्टेंस का पालन न करने को मजबूर हैं।

फाइल : राजेश शर्मा

26 मार्च 2020

समय : 7.15 बजे

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस