मतदान नागरिक का अधिकार और कर्तव्य दोनों है। भारत उन कम देशों में है जहां करोड़ों लोगों को एक बारगी वोट देने का हक मिला। दूसरे देशों में यह धीरे-धीरे मिला। वोट से चूक हमें सिर्फ पांच नहीं पचासों साल पीछे ढकेल देती है। वोट अवश्य दें और समझ कर दें। खुद भी दें और दूसरों को भी प्रेरित करें।

अजय कुमार-अध्यक्ष-हिदी भवन-जौनपुर

Posted By: Jagran