जागरण संवाददाता, जौनपुर : पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को जिले के प्रमुख शिवालयों में अलसुबह से भक्तों की कतार लग गई थी। शिवार्चन व जलाभिषेक को पहुंचे भक्तों के हर-हर महादेव के जयघोष से शिवालय गूंजते रहे। रुद्राभिषेक व बोल बम से पूरा क्षेत्र शिवमय हो गया।

नगर के जागेश्वर महादेव, गोमतेश्वर महादेव, उमेशोनाथ मंदिर, बारीनाथ मठ स्थित शिवमंदिर आदि में बड़ी तादाद में भक्तों ने जलाभिषेक कर शीश नवाया। त्रिलोचन महादेव मंदिर, राजेपुर स्थित रामेश्वर शिवमंदिर में भी भक्तों ने जलाभिषेक कर पुण्य लाभ की कामना की।

बदलापुर : क्षेत्र के करेड़ेपुर स्थित प्राचीन शिव मंदिर में श्रद्धालुओं ने देवाधिदेव का सामूहिक रुद्राभिषेक किया। इससे पूरा वातावरण शिवमय हो उठा। जयकारे से शिवालय क्षेत्र गूंज उठा। पं. राकेश तिवारी ने कहा कि सावन में रुद्राभिषेक करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। मुख्य यजमान बबलू सिंह, उन्नत सिंह, सीमा सिंह, सौरभ रहे। इसी तरह रामजानकी मंदिर सरोखनपुर में सावन के शुरू से एक माह के लिए सीता-राम का जप चल रहा है। यहां दिन-रात जप से क्षेत्र भक्तिमय हो गया है। प्राचीन गौरीशंकर धाम चंदापुर में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए शिवभक्तों ने जलाभिषेक किया। इसके अलावा चौरेश्वरनाथ धाम छंगापुर, दूधनाथ मंदिर दुगौलीखुर्द, कवंचलनाथ मंदिर दाउदपुर आदि में भी जलाभिषेक को भक्तों की भीड़ उमड़ी रही।

मछलीशहर : दूसरे सोमवार को लेकर सुबह से ही मंदिर परिसर में लोग मत्था टेक रहे थे। मेहरवां महादेव मछलीशहर, बउरहउ बाबा बेलासिन शिवालय पर भी शिव भक्तों ने दर्शन-पूजन किया। भारतीय जनता पार्टी के एमएलसी विद्यासागर सोनकर ने पारसनाथ महादेव पौंहा पहुंचकर बाबा भोलेनाथ का दर्शन-पूजन कर आशीर्वाद लिया। इसके बाद शोभनाथ मंदिर जमालपुर, दियावांनाथ मंदिर पर पहुंचे।

सुजानगंज : क्षेत्र के शिवालयों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। गौरी शंकर धाम में श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला देर शाम तक चलता रहा। इसी प्रकार चारों धाम मंदिर गोल्हनामऊ धर्मनगर भीलमपुर, शिव मंदिर भिखारीपुर, ताड़केश्वर मंदिर तार पट्टी, पिपलेश्वर मंदिर बाल्हामऊ, शिव मंदिर सुल्तानपुर आदि शिवालयों में श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया।

Edited By: Jagran