जागरण संवाददाता, मल्हनी (जौनपुर) : सहकारी इंटर कालेज मिहरावां में प्रधानाचार्य परिषद का वार्षिक अधिवेशन, अवकाश प्राप्त प्रधानाचार्य का सम्मान एवं शैक्षिक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि राज्य मंत्री गिरीश चंद यादव ने शिक्षकों को समाज का महत्वपूर्ण अंग बताया।

उन्होंने कहा कि संगोष्ठी के विषय समसामयिक है जो कि संपूर्ण जगत को नई ऊंचाई प्रदान करेगा। इस विषय पर संगोष्ठी में उपस्थित प्रधानाचार्य जनपद ही नहीं बल्कि पूर्वांचल के प्रभुत्व है। प्रधानाचार्य जनसमूह प्रदेश की शैक्षणिक विकास को नया आयाम प्रदान करेगा। एक चाणक्य ही नहीं यहां तो सैकड़ों की संख्या में शिक्षकों ने अपने द्वारा समाज की मानसिक सोच विकसित करने का बीड़ा उठाया है। इसके लिए संयोजक सहित सभी प्रधानाचार्य का स्वागत अभिनंदन करता हूं। परिषद के प्रदेश अध्यक्ष पंडित देव ने सकारात्मक सोच से प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने का संकल्प दिलाया। सभा को परिषद के प्रदेश कोषाध्यक्ष वीरेंद्र प्रताप सिंह, मंडल अध्यक्ष राम नयन सिंह, अवधेश सिंह, रंगनाथ राय, डा.अरुण कुमार शर्मा, डा. रणजीत सिंह, फौजदार सिंह अखिलेश, मधुकर उपाध्याय ने भी संबोधित किया। मुख्य अतिथि ने पिछले सत्र 2019-20 में सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य को अंगवस्त्रम भेंट कर सम्मानित किया। कार्यक्रम से पूर्व एनसीसी कैडेट्स द्वारा गार्ड आफ आनर दिया गया। छात्राओं ने गीत संगीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का डा. सुभाष त्रिपाठी ने संचालन और अतिथियों का स्वागत संयोजक व उत्तर प्रदेश प्रधानाचार्य परिषद के अध्यक्ष डा. प्रमोद कुमार सिंह ने किया। इस अवसर पर श्रीमती रजनी द्विवेदी, रमेश सिंह, धर्मेंद्र यादव, अशोक सिंह समेत वाराणसी, आजमगढ़, गाजीपुर आदि जनपदों के प्रधानाचार्य मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस