जागरण संवाददाता, जौनपुर : आधुनिक युग में भी मदरसों में अध्ययनरत छात्रों को दीनी शिक्षा दी जाती है। समय के अनुसार पाठ्यक्रम में बदलाव न होने के कारण यहां पढ़ने वाले छात्र प्रतियोगी परीक्षा के लिए तैयार नहीं हो पाते। जिसके चलते उन्हें बेरोजगारी का दंश झेलना पड़ता है। योगी सरकार उन्हें आधुनिक शिक्षा की दौड़ में शामिल कर गुणवत्तायुक्त शिक्षा के लिए कई सराहनीय पहल कर रही है। इसी क्रम में मदरसों में स्मार्ट क्लास चलाने की तैयारी है।

प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत जिले के 58 मदरसों में स्मार्ट क्लास की व्यवस्था की जाएगी। यहां प्रोजेक्टर के माध्यम से पढ़ाई होगी। एक कक्षा के लिए 2.54 लाख रुपये खर्च आएगा। इसके लिए जिला अल्पसंख्यक विभाग की तरफ से 147.32 लाख रुपये का प्रस्ताव बनाकर शासन में भेजा गया है। स्वीकृत होने पर इसका कार्य जल्द कार्य कराया जाएगा। वर्तमान में राजकीय आइटीआइ के जीर्णोद्धार को 6.50 करोड़ रुपये दिया गया है। वहीं परिसर में तीन ट्रेड में महिला आइटीआइ के लिए 11 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है। राजकीय बालिका विद्यालय में मल्टीपरपज हाल व स्मार्ट क्लास का कार्य तीन करोड़ से अधिक की लागत से होना है। इसके लिए वक्फ विकास निगम की तरफ से कार्यदायी संस्था सीएनडीएस को बनाया गया है। इस बाबत जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सिंह प्रताप देव ने कहा कि 58 मदरसों में स्मार्ट क्लास व अन्य सुविधाओं का प्रस्ताव शासन स्तर पर है। स्वीकृत होते ही कार्य कराया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस