जागरण संवाददाता, जौनपुर: हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा पाए वृद्ध कैदी की गुरुवार की सुबह जिला कारागार में हालत बिगड़ गई। जिला चिकित्सालय ले जाने पर डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

केराकत कोतवाली क्षेत्र के नरायनपुर बैरिया गांव निवासी गुलाब यादव (60) समेत तीन को गांव के बल्ली यादव की करीब चार दशक पूर्व हुई हत्या के मामले में दोष सिद्ध पाए जाने पर जिला अदालत से आजीवन कारावास की सजा दी थी। फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी गई। मुकदमा विचाराधीन होने के दौरान मुजरिम नंदा की मौत हो गई। एक अन्य लाल बाबू को दोषमुक्त कर दिया गया। गुलाब यादव की सजा बहाल रखी गई थी। करीब चार महीने पहले गुलाब यादव को जिला कारागार में निरुद्ध किया गया था। जेल अधीक्षक एके मिश्र के अनुसार गुलाब यादव सुबह बैरक में सोकर उठा तो उसे उल्टी और बेचैनी की शिकायत हुई। जेल के अस्पताल में प्राथमिक उपचार के दौरान बेहोश हो जाने पर आनन-फानन जिला अस्पताल भेजा गया जहां डाक्टरों ने देखते ही मृत घोषित कर दिया। सूचना दिए जाने पर परिजनों के आने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप