जागरण संवाददाता, केराकत (जौनपुर): नगर के नरहन मोहल्ले में शनिवार की सुबह लूट की सूचना पर पुलिस हलाकान हो गई। पुलिस दोनों पक्षों को पकड़कर कोतवाली लाई तो पूछताछ व छानबीन में मामला पट्टीदारों के बीच जमीन बैनामा संबंधी विवाद का निकला। स्थिति स्पष्ट होने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली।

गौराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के उमरी तारा गांव निवासी मिथिलेश यादव के पिता का करीब बीस साल पहले देहांत हो चुका है। मिथिलेश अपने ननिहाल में रहता है। शनिवार को उसे सूचना मिली कि उसके दादा पैतृक संपत्ति को उसके चाचाओं के नाम बैनामा करने जा रहे हैं। इसे रोकने के लिए वह तहसील में पहुंच गया। वहां उनके न मिलने पर इधर-उधर खोजने लगा। वह नरहन में दिखाई पड़ गए। पूछताछ करने लगा तो उसके चाचा और चचेरे भाई ने पीटकर घायल कर दिया और उल्टे यूपी-100 पर पुलिस को सूचना दे दी कि मिथिलेश ने उसके डेढ़ लाख रूपये छीन लिए हैं। पुलिस मौके पर पहुंची तो मिथिलेश के चाचा पर ही डेढ़ लाख रूपये लेकर भाग जाने का आरोप लगाया। पुलिस दोनों पक्षों को कोतवाली ले आई। पूछताछ में मामला संपत्ति विवाद का निकला। उसके चाचा लोग दादा पर दबाव डालकर जमीन का बैनामा कराना चाहते थे, जिसका मिथिलेश विरोध कर रहा था। रजिस्ट्री रुक जाने से गुस्साए चाचा ने पकड़कर पिटाई कर दी। घायल मिथिलेश को सीएचसी में भर्ती कराया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस