जागरण संवाददाता, जौनपुर : एक तरफ देश कोरोना वायरस जैसे संक्रामक बीमारी से जूझ रहा है। जनप्रतिनिधि व अधिकारी साफ-सफाई के लिए आदेश-निर्देश देते फिर रहे हैं। सूबे में संचारी रोग माह भी चलाया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ नगर पालिका परिषद जौनपुर पुराने ढर्रे पर है। डीएम के फरमान पर रात में मुख्य सड़कों को तो साफ कर दिया जा रहा है लेकिन गलियों में चहुंओर गंदगी का अंबार है। साफ-सफाई न होने से नालियां भी बजबजा रही हैं। जिसके चलते संक्रामक बीमारियों का खतरा मंडरा रहा है।

नगर पालिका परिषद जौनपुर के सभी वार्डों में साफ-सफाई, एंटी लार्वा का छिड़काव, फागिग, ब्लीचिग का छिड़काव किया जाना है। इसमें सोडियम हाइपोक्लोराइड व मच्छरजनित बीमारियों के छिड़काव के लिए केमिकल प्रयोग किया जाना है। 22 मार्च को जनता क‌र्फ्यू के दिन कोतवाली से लेकर कचहरी तक की सड़कों को ही पानी में केमिकल डालकर सैनिटाइज किया गया। कुछ वार्डों में सभासदों के इशारे पर कुछ जगहों पर फागिग व छिड़काव किया गया। वहीं उसके बगल लाइन बाजार व शहर के अन्य हिस्सों में सैनिटाइज व छिड़काव नहीं हो पाया। अभी भी वीआइपी इलाकों में हुसेनाबाद कलेक्ट्रेट के पास, रामनगर भड़सरा महिला थाना के बगल, उमरपुर में सपना आइस्क्रीम फैक्ट्री के पास, मियांपुर में गंदगी की न तो सफाई हुई है न ही फागिग व छिड़काव। यहां हर तरफ कूड़ा जमा है तो नालियां भी बजबाजा रही हैं। बोले अधिकारी

इस बाबत नगर पालिका परिषद के ईओ आरके प्रसाद ने बताया कि सभी वार्डों में क्रमश: छिड़काव व फागिग चल रही है, जिन जगहों पर नहीं हुआ वहां पर कर्मचारी पहुंच रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस