जागरण संवाददाता, जौनपुर : कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते दैनिक श्रमिकों के सामने परिवार का पेट भरने की समस्या उत्पन्न हो गयी है। ऐसे में श्रमिकों की मदद के लिए सरकार ने पहली किस्त जारी कर दी है। श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों के लिए 41 लाख रुपये की धनराशि आई है। जो शीघ्र ही पंजीकृत श्रमिकों के खाते में भेज दी जाएगी। वहीं अपंजीकृत श्रमिकों के लिए भी योजना बनायी जा रही है।

तीन दिन पहले ही जिले से नगरीय क्षेत्रों के 51 हजार से अधिक दिहाड़ी मजदूरों की सूची भेजी गई थी। इसके तहत श्रम विभाग के खाते में 40 लाख 74 हजार रुपये प्राप्त हुए हैं, इसके तहत चार हजार 74 श्रमिकों को पैसा दिया जाएगा। जिसको सभी भवन सन्निर्माण कार्य में लगे मजदूरों के खाते में ट्रांसफर किया जाएगा। जिसके तहत जिले में पंजीकृत पटरी दुकानदारों की संख्या 827, अपंजीकृत पटरी दुकानदार 2701 हैं। रिक्शा, इक्का, तांगा, चालकों की संख्या में पंजीकृत 150 व अपंजीकृत 158 हैं। दैनिक मजदूरी कर्मकारों की संख्या मंडियों में पल्लेदारी करने वाले, ठेलिया चलाने वालों में पंजीकृत 26 हजार 800 व अपंजीकृत 14 हजार 900 है। वहीं टैंपो, ऑटो, ई-रिक्शा चालकों की संख्या अपंजीकृत 3429 है। अन्य दैनिक भोगी व्यक्तियों की संख्या पंजीकृत 11 व अपंजीकृत 2263 है।

बोले अधिकारी

इस बाबत सहायक श्रमायुक्त कुलदीप सिंह ने कहा कि शासन स्तर से दिहाड़ी मजदूरों के लिए पहली किस्त के रूप में 40 लाख 74 हजार रुपये प्राप्त हुए हैं, इसमें चार हजार 74 श्रमिकों में एक-एक हजार रुपये खाते में डाला जाएगा। इसके लिए सभी श्रमिक अपना खाता नंबर व डिटेल 9837414058 पर वाट्सएप पर भेजे। उनके खाते में धनराशि डाल दी जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस