जागरण संवाददाता तेजी बाजार (जौनपुर): ¨हदी सिनेमा जगत के जाने-माने अभिनेता सुनील शेट्टी ने कहा कि पद्मावत फिल्म में विरोध करने लायक कुछ भी नहीं है। ऐसी फिल्में देखने का लोगों को मौका मिलना चाहिए। वे शुक्रवार को क्षेत्र के गौराकला में राष्ट्रीय दंगल प्रतियोगिता के उद्घाटन के बाद दैनिक जागरण से बातचीत कर रहे थे।

तीन साल बाद अपनी फिल्म शीघ्र रिलीज होने की बात तो कही लेकिन उस फिल्म के बारे में कुछ भी बोलने से कन्नी काट गए। मोदी सरकार के केंद्रीय बजट को पहली बार जमीन से जुड़ा बजट बताते हुए कहा कि यह गांवों व किसानों के विकास में अत्यंत उपयोगी साबित होगा। खेल प्रतियोगिताओं को युवाओं के लिए अवसर बताते हुए उन्होंने कहा कि यह राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर युवाओं को प्लेटफार्म मुहैया कराती है। कालेज के दिनों की चर्चा करते हुए श्री शेट्टी ने कहा कि उन दिनों क्रिकेट के खेल में उन्हें आठ नंबर मिले थे। खेल का कोटा युवाओं को उच्च शिक्षा एवं नौकरी के लिए वरदान साबित होता है।

इसके पूर्व प्रतियोगिता का उद्घाटन करते हुए उन्होंने आयोजक भुवाल ¨सह के प्रयासों को सराहा। कहा कि जो समाज के लिए कुछ करता है उसे समाज याद रखता है।

महाराष्ट्र के पूर्व गृह राज्यमंत्री कृपाशंकर ¨सह ने कहा कि संघर्षों के बाद मुकाम हासिल करने वाले सुनील शेट्टी के जीवन से युवाओं को प्रेरणा लेनी चाहिए। पूर्व सांसद धनंजय ¨सह ने विचार व्यक्त किए। फिल्म निर्माता निर्देशक रवि दीवान, भरत शर्मा, कुंवर जय बाबा, ओम प्रकाश ¨सह, विनय ¨सह, सजल ¨सह, जय प्रकाश ¨सह, ईश्वर देव ¨सह, लालजी तिवारी आदि मौजूद रहे।

धरती मेरी मां है, उसने गाली दी..

गौराकला तेजीबाजार में दंगल प्रतियोगिता का उद्घाटन करने पहुंचे सिने अभिनेता सुनील शेट्टी ने संबोधन में अपने फिल्म का डायलाग 'कौन.. डरता है.. धरती मेरी मां है, उसने इसे गाली दी है, मैं उसे नहीं छोड़ूंगा.'। सुनाकर दर्शकों से खूब तालियां बजवाई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप