जासं, जौनपुर : पूर्वांचल विश्वविद्यालय के संशोधित पीएचडी प्रवेश परीक्षा परिणाम को लेकर आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। पीएचडी संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में शुक्रवार को भी अभ्यर्थियों ने रिक्शा चलाकर विरोध जताया। उन्होंने निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग को लेकर लगातार आंदोलन करने का आदेश दिया।

अभ्यर्थी दिव्य प्रकाश सिंह के नेतृत्व में आंदोलन के प्रथम दिन कलेक्ट्रेट में धरना कर अभ्यर्थी जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल उत्तर प्रदेश को ज्ञापन देकर एक सप्ताह का समय मांगा था लेकिन सप्ताह बीत जाने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। अभ्यर्थियों ने शुक्रवार को नगर स्थित रोडवेज तिराहे से लेकर आंबेडकर तिराहे तक रिक्शा चलाकर व विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए विरोध जताया। कलेक्ट्रेट चौराहे पर इन प्रदर्शनकारी छात्रों को देखने के लिए लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई।

वहीं सपानेता अतुल सिंह व अधिवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि पीएचडी परीक्षा परिणाम में सफल अभ्यर्थियों को आखिरकार क्यों सप्ताहभर बाद संशोधित कर फेल कर दिया गया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से गौरव सिंह, संजय सोनकर, शशांक मिश्र, विजय प्रताप, शिवम सिंह, अमित श्रीवास्तव, नीरज यादव, सचिन यादव, चंद्रपाल, संदीप आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप