जागरण संवाददाता, बदलापुर (जौनपुर): पशुओं में टीकाकरण व गणना की सहूलियत के लिए सरकार अब हर गांवों में एक वैक्सीनेटर व एक सहायक की तैनाती करने जा रही है। सब कुछ ठीक- ठाक रहा तो जल्द ही इनकी तैनाती हो जाएगी।

राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत अब क्षेत्र के प्रत्येक गांवों में पशुओं में टीकाकरण करने में आ रही समस्याओं को देखते हुए सरकार एक वैक्सीनेटर की तैनाती करने जा रही है जिसे प्रशिक्षित भी किया जाएगा। इसके बाद वह संबंधित गांव में टीकाकरण का कार्य करेगा। इसके अलावा एक सहायक की भी तैनाती होगी। जो गांव के पशुओं की टैगिग करेगा। जिससे जहां पशुओं की गणना होगी। साथ ही साथ यदि कोई पशुओं छोड़ेगा तो भी पता चल जाएगा कि यह किसका पशु है।

राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत चयनित होने वाले वैक्सीनेटर को सरकार तीन रुपये प्रति पशु व सहायक को ढाई रुपये प्रति पशु मानदेय देगी। तैनाती के पूर्व इन्हें प्रशिक्षित भी किया जाएगा। गांव से ही होगा चयन

गांवों में वैक्सीनेटर व सहायक का चयन उसी गांव से होगा। जिस गांव में उसकी तैनाती होगी। इससे जहां गांव में ही रोजगार का सृजन होगा वहीं पशुओं की देखभाल भी। क्या बोले पशु चिकित्सधिकारी

प्रत्येक गांवों में वैक्सीनेटर व सहायक की तैनाती के बाबत पूछे जाने पर पशु चिकित्साधिकारी घनश्यामपुर डा. त्रिलोकी नाथ ने बताया कि इनके चयन की प्रक्रिया शीघ्र होगी। इनके चयन से टीकाकरण में आ रही समस्या जहां दूर होगी वहीं टैगिग (छल्ले) लगाए जाने से अब कोई अपने पशुओं को भी नहीं छोड़ पाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस