जौनपुर, जेएनएन। कोहरे का कहर जारी है। रविवार की सुबह तक सूरज की किरणें धरती पर नहीं पहुंच सकी थीं। वहीं रात से ही कुहांसा फुहार बनकर टपक रहा है। मौसम की मार से जीवन की रफ्तार धीमी होने के साथ की दिनचर्या प्रभावित हो गई है। शाम होते ही लोग घरों में दुबकने को मजबूर हो जा रहे हैं। घना कोहरा आसमान को ढंक ले रहा है। हवा की गति कम हो गई और तापमान में भी गिरावट आई है।

सुबह कोहरे के चलते जहां वाहन चलाने में परेशानी हुई वहीं सड़कों पर जहां सन्नाटा पसर रहा है। जरूरत पड़ने पर ही लोग घरों से बाहर निकले। अधिकतम तापमान 23डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम 9 डिग्री सेल्सियस रहा। कृषि विज्ञान केन्द्र बक्शा के मौसम वैज्ञानिक डा. पंकज जायसवाल ने बताया कि रविवार की सुबह 8 बजे तापमान 11 डिग्री सेल्सियस रहा। हवा पश्चिमोत्तर से 8 किमी / घंटा  की रफ्तार से चल रही हैं। इसके सापेक्ष आर्द्रता 86फीसद रही।

इसके साथ ही 10:00 बजे तक 14डिग्री सेल्सियस, 12:00 बजे 18डिग्री और 4 बजे तक 22 डिग्री सेल्सियस पर तापमान पहुंचेगा।  शाम पांच बजे के बाद सूरज की किरणों के मद्धिम पड़ने के साथ ही पारे के गिरने का क्रम शुरू हो जाएगा। रात 12 बजे पुनः 13 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। इसके बाद पारा पुनः गिरने लगेगा। उन्होंने बताया कि यह मौसम रबी की फसलों के लिए फायदेमंद है, क्योंकि पूर्व में कई दिनों तक अधिकतम व न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक हो गया था।

Edited By: Abhishek sharma