जागरण संवाददाता, जौनपुर: राष्ट्रीय पोषण माह के तहत बुधवार को सिरकोनी ब्लाक के चांदपुर वार्ड आंगनबाड़ी केंद्र पर पांच खाद्य समूहों की पोषण प्रदर्शनी लगाई गई। इसके माध्यम से गर्भवती, धात्री और किशोरियों को संतुलित व स्वस्थ आहार के बारे में जानकारी दी गई।

प्रदर्शनी में खाद्य समूहों को पहला अनाज, दूसरा दालें, तीसरा सब्जियां व फल, चौथा दूध व मांस, पांचवां वसा और शक्कर में बांट कर दिखाया गया। इस दौरान बताया गया कि गर्भवती, किशोरी व बच्चे यदि अपने भोजन में इन पांच प्रकार के अहार को शामिल करेंगे तो पूरी तरह से स्वस्थ रहेंगे। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कामिनी, रानी, ऋचा, मंजू, गीता और किरन ने स्टाल पर अरहर दाल, चना दाल, राजमा, मसूर दाल, चना, गुड़, मूंगफली को भोजन के रूप में उपयोग करने की प्रदर्शनी लगाई। बताया कि दालें शरीर में प्रोटीन की आपूर्ति का सबसे अच्छा स्त्रोत हैं। सब्जियों में लौकी, बैगन, कोहड़ा, नेनुआ, टमाटर, रगेम को दिखाकर उसकी खूबियां बताईं। फल में केला, सेब का प्रदर्शन कर उसके बारे में जानकारी दी। मीठा पुआ, गुलगुला, पकौड़ी, मीठी पूड़ी आदि व्यंजन बनाने के तरीके बताए गए। पनीर व दही आदि दूध सामग्रियों से बनने वाले स्वास्थ्यप्रद व्यंजनों के बारे में बताया गया। कार्यक्रम में आशा, खुशी, मोनी, सरिता पाल, रीना सोनकर आदि गर्भवतियों ने भाग लिया, सरिता व खुशी सहित तमाम किशोरियां उपस्थित रहीं। प्रदर्शनी में शामिल गर्भवती आशा ने कहा कि आंगनबाड़ी बहन से मिली जानकारी के आधार पर अपने भोजन में पांच प्रकार की खाद्य सामग्रियों को शामिल करूंगी। साथ ही अपने पास-पड़ोस के लोगों को भी इस बारे में जागरूक करूंगी। वहीं गर्भवती खुशी और मोनी का कहना था कि अभी तक वह अपने भोजन में गुड़ को शामिल नहीं करती थी, लेकिन अब गुड़ का उपयोग करेंगी जिससे एनीमिया से बचाव हो सके। गर्भवती सरिता पाल का कहना है कि उन्हें पत्तेदार सब्जियां अच्छी नहीं लगती लेकिन आगे से वह इनका उपयोग करेंगी जिससे एनीमिया से बचाव हो सके।

Edited By: Jagran